परीक्षा टालने की मांग के बीच नीट का एडमिट कार्ड जारी, ऐसे करें डाउनलोड

0
124

शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ने कहा- छात्र और उनके परिवार चाहते हैं कि ये एग्जाम हों, 80% एडमिट कार्ड डाउनलोड हो चुके

 नेशनल एलिजिबिलिटी एंट्रेंस टेस्ट यानी नीट एग्जाम (NEET Exam) के लिए एडमिट कार्ड जारी कर दिया गया है. काफी दिनों से परीक्षा को आयोजित किए जाने को लेकर मचे घमासान के बीच ऐसा लग रहा है कि सरकार ने परीक्षा टालने के विकल्प पर विचार करने को तैयार नहीं है. शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कोरोना महामारी के बीच इंजीनियरिंग और मेडिकल पाठ्यक्रमों के लिए ऑल इंडिया लेवल पर एग्जाम कराने का बचाव किया है। निशंक ने कहा कि पैरेंट्स और स्टूडेंट्स लगातार दबाव बना रहे हैं। उनके परिवार परीक्षाएं चाहते हैं। जेईई एग्जाम के लिए 80% छात्र पहले ही एडमिट कार्ड डाउनलोड कर चुके हैं।

15 लाख से ज्यादा छात्रों ने किया रजिस्ट्रेशन
इस साल 15 लाख से ज्यादा छात्रों ने नीट परीक्षा के लिए फॉर्म भरा है, जो कि पिछले साल की तुलना में 4.87 फीसदी ज्यादा है. संख्या के दृष्टिकोण से इस साल पिछले साल की तुलना में करीब 74 हज़ार ज्यादा स्टूडेंट्स ने रजिस्ट्रेशन कराया है. इस बार पिछले साल की तुलना में जम्मू कश्मीर से भी ज्यादा रजिस्ट्रेशन हुए. हालांकि, राज्य में इंटरनेट लॉकडाउन था लेकिन सरकार ने छात्रों की सुविधा के लिए ऑफलाइन फॉर्म रिलीज़ किए थे और नोडल सेंटर्स बनाए थे. सबसे ज्यादा आवेदन महाराष्ट्र से किए गए.

सोशल डिस्टेंसिंग का रखा जाएगा ध्यान
कोरोना वायरस महामारी के चलते छात्रों को सुरक्षा प्रदान करने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखा जाएगा. इसके लिए 3843 सेंटर्स बनाए गए हैं. पहले कुल 2546 सेंटर्स ही बनाए गए थे. इससे जहां एक तरफ सोशल डिस्टिंसिं का पालन हो पाएगा वहीं छात्रों को उनकी पसंद का सेंटर एलॉट करने में भी मदद मिलेगी.

परीक्षा टालने को लेकर हो रही मांग
बता दें कि पिछले कई दिनों से परीक्षा को टालने की मांग हो रही है. कुछ छात्रों और पैरेंट्स का कहना है कि परीक्षा करवाने की वजह से उनके स्वास्थ्य को नुकसान पहुंच सकता है. इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट में याचिका भी डाली थी लेकिन कोर्ट ने परीक्षा पर रोक लगाने से मना कर दिया. इसके बाद लग रहा था कि परीक्षा के लिए रास्ता साफ हो जाएगा. लेकिन ऐसा नहीं हुआ विरोध जारी रहा और कई राजनेता भी इसमें कूद पड़े. बीजेपी से राज्य सभा सांसद सहित पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और दिल्ली के उप मुख्यमंत्री ने भी परीक्षा को टालने की केंद्र सरकार से अपील की.

घर से विरोध करेंगे छात्र
इसी कड़ी में कुछ छात्रों ने परीक्षा करवाए जाने को लेकर घर से ही विरोध करने का फैसला किया है. विरोध के दौरान वे घर से ही काले झंडे दिखाएंगे, माथे पर काली पट्टी बांधेंगे, काले रंग का मास्क पहनेंगे और अपनी प्रोफाइल पिक्चर को भी काला करेंगे. बता दें कि 1 सितंबर से जेईई की परीक्षा होगी जबकि 13 सितंबर से नीट की परीक्षा शुरू होनी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.