Corona Special:क्या बिल्डिंग की लिफ्ट बढ़ा रही है संक्रमण?

0
37

शहरों में बहुमंजिला इमारतों में मौजूद लिफ्ट कोरोना संक्रमण को फैलाने का जरिया बन रही है. तेलंगाना के खम्मम ज़िले के बाईपास रोड इलाके में मौजूद पांच मंजिला इमारत में रहने वाले 20 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. बिल्डिंग में रहने वाले लगभग सभी लोग आने-जाने के लिए लिफ्ट का इस्तेमाल करते थे. बहुमंजिला इमारत की पहली मंजिल को छोड़कर बाकी मंजिलों पर रहने वाले परिवारों के 20 सदस्य कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. पहली मंजिल पर रहने वाले लोग लिफ्ट का इस्तेमाल सामान्य तौर पर नहीं करते है. इसकी वजह से माना जा रहा है कि लिफ्ट के बटन के जरिए कोरोना वायरस का संक्रमण फैला है, क्योंकि पहली मंजिल को छोड़कर बाकी फ्लोर पर रहने वाले परिवारों के सदस्य ही पॉजिटिव मिले हैं.

 2 हफ्ते में संक्रमित
उस बहुमंजिला इमारत में रहने वाले लोग पिछले 2 हफ्ते के अंदर संक्रमित हुए हैं. रैपिड एंटीजन टेस्ट की वजह संक्रमण की जानकारी स्वास्थ्य विभाग के लोगों को लगी. खम्मम जिले की स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मालती के मुताबिक खम्मम में रोजाना औसतन 2500 टेस्ट कराए जा रहे हैं. इसी क्रम में बाईपास रोड इलाके में मौजूद एक बहुमंजिला इमारत में परीक्षण के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची थी. सैंपल की जांच में पाया गया कि इमारत में रहने वाले 20 लोग कोरोना संक्रमण के शिकार हैं. हालांकि किसी भी पॉजिटव शख्स में सर्दी, खांसी या बुखार के लक्षण नहीं पाए गए हैं. सभी लोगों को घरों में आइसोलेशन में रहने को कहा गया है. डॉ. मालती के मुताबिक प्राथमिक तौर पर ऐसा माना जा रहा है कि लिफ्ट के बटन को छूने से संक्रमण फैलने की आशंका है. हालांकि संक्रमण फैलने का कोई दूसरा कारण भी हो सकता है.

लिफ्ट के बटन को सभी लोग छूते थे
बहुमंजिला इमारत में रहने वाले लोगों का दावा है कि उन लोगों ने पिछले हफ्तों में कोई भी पार्टी का आयोजन नहीं किया है, इसलिए इकट्ठा होने की वजह से संक्रमण फैलने की आशंका की कोई वजह नहीं है. अपार्टमेंट में रहने वाले लोगों का कहना है कि ज्यादातर लोग एक दूसरे के फ्लैट में नहीं जाते हैं और मिलने पर दूर से ही बात करते हैं. ज्यादातर लोगों का कहना है कि लिफ्ट के बटन को सभी लोग छूते हैं और हो सकता है कि उसी की वजह से संक्रमण फैल गया हो.

लगातार हो रहे हैं टेस्ट
जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मालती ने बताया कि खम्मम में कोरोना वायरस के खिलाफ 35 केंद्र काम कर रहे हैं. आशा वर्कर सभी इलाकों पर नजर रख रही हैं और खांसी, कफ से किसी के पीड़ित होने की खबर मिलते ही रैपिड एंटीजन टेस्ट की व्यवस्था की जा रही है. गौरतलब है कि स्वास्थ्य विभाग अचानक किसी इलाके में रैंडम टेस्ट भी कर रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.