भागलपुर इंजीनियरिंग कॉलेज से एमटेक कर रहे आकाश सागर ने सोनू सूद द वारियर नाम से एक रोबोट तैयार किया है जो कोरोना के इलाज में डॉक्टर और नर्सों की मदद करेगा। साथ ही मरीजों से दूरी भी बनी रहेगी। इसकी खासियत है कि रोबोट मरीज के पास पहुंचते ही डॉक्टर को मरीज की तस्वीर, उसका तापमान, ऑक्सीजन का स्तर मापकर मोबाइल पर संदेश भेज देगा। यही नहीं डॉक्टर के निर्देश पर जरूरी दवा भी मरीजों को उपलब्ध करा देगा। गौरतलब है कि इसी तरह का रोबोट गुजरातऔर केरल के अस्पताल में भी अपनी सेवाएं दे रहा है।
 
इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्यूनिकेशन के सेकेंड इयर के छात्र आकाश सागर ने कहा कि रोबोट माइक्रो इलेक्ट्रॉनिक्स एंड वीएलएसआई तकनीक पर काम करता है। इसे कंप्यूटर या मोबाइल से जोड़कर इस्तेमाल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अभिनेता सोनू सूद से प्रेरित होकर इस रोबोट का नाम सोनू सूद द वारियर रखा गया है। इसको पेटेंट कराने की दिशा में भी जल्द काम शुरू किया जाएगा।

इंजीनियरिंग कॉलेज के इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्यूनिकेशन इंजीनियरिंग की विभागाध्यक्ष डॉ. पुष्पलता ने कहा कि रोबोट को कंप्यूटर और मोबाइल से जोड़कर सारे संदेश का आदान-प्रदान हो सकता है। आकाश इस प्रोजेक्ट पर बेहतर काम कर रहे हैं। ऑनलाइन इससे जुड़ी जानकारी मिलती रहती है। 

इंजीनियर बहन के साथ मिलकर किया काम 
आकाश मूल रूप से पटना गांधी चौक के रहने वाले हैं। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के दौरान वो अपनी इंजीनियर बहन स्नेहलता के साथ मिलकर इस प्रोजेक्ट पर काम शुरू किया। लॉकडाउन के बाद कॉलेज में इसे दिखाया जाएगा। यह न सिर्फ कोरोना बल्कि किसी भी तरह के संक्रमण के मरीजों के इलाज में काफी मदद करेगा। रोबोट यूबी रेज से खुद को स्ट्रलाइज भी करता रहेगा।

दवा से लेकर खाना तक देगा
इस रोबोट की खासियत है कि यह मरीजों को जरूरी दवा, खाना और लिक्विड डाइट भी बेड के हिसाब से देगा। साथ मरीजों की सारी जानकारी भी अपने साथ रखेगा। प्रभारी प्राचार्य डॉ. मणिकांत मंडल ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्रों ने कई क्षेत्रों में बेहतर काम किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.