लालू को दोबारा जेल भेजने के PIL दाखिल,बोली JDU- भ्रष्टाचार करने में उनको शर्म नहीं आती है

0
67

चारा घोटाले के आरोप में सजा काट रहे बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व राष्ट्रीय जनता दल अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोबारा से जेल भेजने को लेकर एक याचिका दायर की  गई है. झारखंड हाई कोर्ट में दाखिल की गई इस याचिका में कहा गया है कि लालू यादव चारा घोटाला में आरोपी हैं, ऐसे में लालू प्रसाद यादव को रिम्स निदेशक के बंगले में रखना सही नहीं है और उन्हें दोबारा जेल शिफ्ट कर दिया जाए. जाहिर है अब इसको लेकर बिहार की सियासत में भी सरगर्मी है. इसी बहाने जेडीयू नेता  एक बार फिर आरजेडी नेता पर हमलावर हैं.

इस मुद्दे पर जेडीयू संसदीय दल के नेता ललन सिंह ने कहा कि पीआईएल किसने की, इसकी जानकारी नहीं है. पर 1998 की बात है, जब लालू जेल गए थे, तब गेस्ट हाउस को जेल बना दिया गया था. तब भी सुप्रीम कोर्ट ने तब टिप्पणी की थी, जब जेल में सुरक्षा नहीं, तो गेस्ट हाउस में कैसे सुरक्षा होगी. ललन सिंह ने ये भी कहा कि भ्रष्टाचार करने में उनको शर्म नहीं आती है क्योंकि लालू प्रसाद आदतन भ्रष्टाचारी हैं. मौका मिला, तो भ्रष्टाचार किया.

बता दें कि हाल के दिनों में बिहार विधानसभा चुनाव की तैयारियों के मद्देनजर रांची के रिम्स में इलाज करवाने वाले लालू यादव से मिलने वालों की संख्या बढ़ गई है और आम दिनों में भी लोगों को उनसे मिलने की इजाजत मिल जा रही है. ऐसे में जेडीयू ने आरोप लगाया है कि सीट बंटवारे से पार्टी चलाने तक सभी काम जेल से हो रहे हैं. जेल मैन्युअल की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं. ऐसी स्थिति में चुनाव आयोग को कड़ा फैसला लेना चाहिए.इससे पहले झारखंड में BJP ने भी हेमंत सरकार और जेल प्रशासन से कोरोना के कारण एक बंगले में सजा काट रहे राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव से मिलने वालों की संख्या पर नजर रखने की मांग की थी. पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कहा था कि ऐसी शिकायतें मिल रही हैं कि चारा घोटाले में सजा काट रहे राजद सुप्रीमो से बंगले में लोग जेल मैनुअल के नियमों की धज्जियां उड़ा कर लगातार मिल रहे हैं. यह बंगला राजद का प्रधान चुनावी कार्यालय बनता जा रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.