2023 तक आधुनिक सुविधाओंऔर नए लुक में दिखेगा पटना एयरपोर्ट

0
32

ढ़ते यात्री यातायात और उनकी जरूरतों को पूरा करने के लिए पटना के जयप्रकाश नारायण अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे के आधुनिकीकरण का काम चल रहा है. 1216.90 करोड़ रुपए की इस परियोजना पर काम तेजी से जारी है. मार्च 2023 तक पटना एयरपोर्ट के नए अवतार और लुक में नजर आने की संभावना है. पटना एयरपोर्ट के आधुनिकीकरण के बाद हवाईअड्डे की वार्षिक संचालन क्षमता बढ़ाकर आठ मिलियन यात्री होने की संभावना है. जिसके लिए सात लाख वर्गफुट के कुल क्षेत्रफल के साथ अलग प्रस्थान और आगमन को हवाईअड्डे के प्रवेश द्वार तक जोड़ा जाएगा.

पटना हवाईअड्डे के आधुनिकीकरण की महत्वाकांक्षी परियोजना मार्च 2023 तक पूरी होगी. जिसमें अत्याधुनिक सुविधाओं, कार्गो कॉम्प्लेक्स, मल्टी लेवल कार पार्किंग, एयर ट्रैफिक कंट्रोल के साथ नया एकीकृत टर्मिनल भवन का निर्माण भी शामिल है. साथ ही तकनीकी बिल्डिंग, एयरपोर्ट फायर स्टेशन, न्यू एप्रन जिसमें 14 एयरक्राफ्ट पार्किंग की सुविधा भी उपलब्ध होगी.

पटना हवाईअड्डा पिछले पांच वर्षों में वार्षिक यात्री वृद्धि के मामले में देश के सबसे तेजी से बढ़ते मौजूदा टर्मिनल में से एक है. यह प्रति वर्ष लगभग साढ़े चार मिलियन यात्रियों को सुविधा दे रहा है .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.