RLSP में बगावत:सत्यानंद दांगी ने बनाई नई पार्टी 41 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा की

0
57

 बिहार में विधानसभा चुनाव से पहले न सिर्फ दल बदलने का सिलसिला शुरू हो गया है बल्कि नए दल खड़े करना भी शुरू हो गया है. इस बीच आरएलएसपी से निकल कर सत्यानंद दांगी ने नई पार्टी गठित की है. भारतीय लोक चेतना पार्टी गठन की घोषणा की. मौर्या होटल में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर नई पार्टी के गठन का ऐलान किया है.

इतना ही नहीं पूर्व आरएलएसपी नेता ने बिहार विधानसभा चुनाव में 41 सीटों पर चुनाव लड़ने की भी घोषणा की है. पार्टी गठन के ऐलान के पूर्व महात्मा ज्योतिबा फुले और साबित्रीबाई फुले की तस्वीर पर माल्यार्पण किया.

भारतीय चेतना पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सत्यानंद दांगी ही बनाए गए. इस दौरान उन्होंने कहा कि भारत और बिहार को आत्मनिर्भर बनाने के लिए बिहार को सामाजिक न्याय की जरूरत है. भारतीय लोक चेतना पार्टी का उद्देश्य सम्पूर्ण सामाजिक न्याय दिलाना है.उन्होंने कहा कि जब तक राजनीतिक, आर्थिक, शैक्षणिक समानता मिलना जरूरी है. बिहार से अप्रवासी मजदूर फिर से काम की तलाश में बिहार से बाहर जा रहें हैं. लॉकडाउन में वे घर लौटे थे.

सत्यानंद दांगी ने कहा कि किसानों को खुशहाल बनने के लिए सुपर गांव बनाना होगा. सुपर गांव, सुपर प्रखंड, सुपर अनुमंडल और सुपर जिले का मॉडल बनाया जाने का संकल्प भारतीय लोक चेतना पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने लिया.

उपरोक्त उद्देश्यों एवं संकल्प के आधार पर ‘भारतीय लोक चेतना पार्टी’ बिहार विधान सभा चुनाव-2020 में 41 सीटों पर चुनाव लड़ेगी तथा अपना प्रत्याशी खड़ा करेगी. विधान सभा क्षेत्रों का नाम इस प्रकार हैं-1 गुरूआ, 2 टेकारी, 3 अतरी, 4 घोषी, 5 मुखदुमपुर (अनुसूचित जनजाति), 6 गोह, 7 रफीगंज, 8 नवादा, 9 हिसुआ, 10 दीघा, 11 दानापुर, 12 फुलवारी (अनुसूचित जनजाति), 13 कुम्हरार, 14 जगदीशपुर, 15 काराकाट, 16 महनार, 17 हाजीपुर, 18 कुढ़नी, 19 मीनापुर, 20 सीतामढ़ी, 21 रक्सौल, 22 बाल्मीकिनगर, 23 गरखा (अनुसूचित जनजाति), 24 जीरादेई, 25 कुचाईकोट, 26 मोरवा, 27 समस्तीपुर, 28 विभूतिपुर 29 बाबूबरही, 30 झंझारपुर 31 जाले, 32 तारापुर, 33 चेरियाबरियापुर, 34 शेखपुरा, 35 जमुई, 36 अमरपुर, 37 बेलहर, 38 परवत्ता, 39 सुपौल, 40 सीमरी बख्तियारपुर एवं 41 बिहारीगंज.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.