पूर्णिया:40 सेकेंड में उफनती कनकई नदी में समा गया सरकारी स्कूल

0
31

बिहार के पूर्णिया में लगातार हो रही बारिश कहर बरपा रही है. बीते तीन दिन के दौरान यहां करीब 200 मिलीमीटर बारिश दर्ज की जा चुकी है. जिले के अमौर प्रखंड के ज्ञानडोभ पंचायत के सीमलवाड़ी के नागरा टोला में बारिश के कारण कमजोर हो चुका एक सरकारी स्कूल ध्वस्त होकर उफनती कनकई नदी में समा गया. प्राथमिक विद्यालय के छह कमरे का भवन महज 40 सेकंड में टूट कर कनकई नदी में बह गया. देखते ही देखते प्राथमिक विद्यालय की बिल्डिंग टूट कर धारा में विलीन हो गई. स्कूल के ध्वस्त होकर नदी में समाने की तस्वीर कैमरे में कैद हुई है.

जानकारी के मुताबिक स्थानीय लोगों और जनप्रतिनिधियों द्वारा पूर्व में नदी के कटाव की सूचना जिला प्रशासन को दी गई थी. इस पर जिलाधिकारी (डीएम) राहुल कुमार ने कहा कि विभागीय इंजीनियर को कटाव निरोधक काम करने का निर्देश दिया गया था. विभाग द्वारा जियो बैग और कटाव निरोधक कार्य भी किया गया था. उन्होंने कहा कि मामले की जांच करवाई जाएगी.

महज 40 सेकेंड में उफनती कनकई नदी में समा गया सरकारी स्कूल, कई दिन से हो रहा था कटाव

दरअसल कनकई नदी का कटाव इस इलाके में इतना तेज है कि कई लोगों के घर-मकान और सरकारी भवन तक इसकी भेंट चढ़ चुके हैं. तीन दिन पहले बायसी के ताराबाड़ी में चंद सेकेंडों में एक बड़ा पक्का मकान कनकई नदी में बह गई थी. ताराबाड़ी और चनकी पंचायत में भी दर्जनों मकान और कच्चे घर उफनती नदी में इसी तरह ध्वस्त होकर समा चुके हैं.कोरोना संकट के बीच बाढ़ की मार झेल रहे ग्रामीणों ने इस बार विधानसभा चुनाव में वोट के बहिष्कार करने का निर्णय लिया है. लोगों का कहना है कि कनकई नदी के कटाव के कारण चंकी और ताराबाड़ी का अस्तित्व समाप्त होने के कगार पर है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.