कोरोना अपडेट: कोरोना ने 1 लाख का आंकड़ा किया पार , 16वें दिन भी एक हज़ार से ज्यादा मौत, अबतक 52 लाख संक्रमित

0
37

देशभर में 382 डॉक्टरों ने गंवाई जान, IMA ने की शहीद का दर्जा देने की मांग

देश में कोरोना संक्रमण का आंकड़ा 52 लाख के पार पहुंच गया है. पिछले 24 घंटों में 96,424 नए कोरोना मामले दर्ज किए गए हैं. इससे पहले 16 सितंबर को रिकॉर्ड 97,894 संक्रमण के मामले आए थे. वहीं 24 घंटे में 1174 लोगों की जान भी चली गई है. ये लगातार 16वां दिन है जब देश में एक हजार से ज्यादा लोगों की मौत हुई है. अच्छी खबर ये है कि 24 घंटे में रिकॉर्ड 87,472 मरीज ठीक भी हुए हैं.

कोरोना महामारी के बीच इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने कोरोना मरीजों का इलाज करने के दौरान जान गंवाने वाले डॉक्टरों के लिए आवाज उठाई है. आईएमए ने इस बात को लेकर भी नाराजगी जताई है कि स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने संसद में कोरोना से डॉक्टरों की मौत को लेकर कोई जिक्र नहीं किया. आईएमए ने इस पर आपत्ति जताते हुए इस संक्रमण से जान गंवाने वाले 382 डॉक्टरों की लिस्ट जारी की है और सरकार से उन्हें शहीद का दर्जा दिए जाने की मांग की है.

IMA ने स्वास्थ्य राज्यमंत्री अ​श्विनी कुमार चौबे के उस बयान पर आपत्ति जताई है, जिसमें उन्होंने कहा था कि सार्वजनिक स्वास्थ्य केंद्र और अस्पताल राज्य के अधीन आते हैं इसलिए केंद्र सरकार के पास बीमा मुआवजा का कोई डाटा उपलब्ध नहीं है. आईएमए ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा, ‘संसद में दिया गया इस तरह का बयान हमारे लोगों के लिए खड़े होने वाले राष्ट्रीय नायकों को त्यागने और कर्तव्य से पीछे हटने के समान है.”

एसोसिएशन से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कि 16 सितंबर को आईएमए के पास कोरोना से जुड़ा जो आकड़ा उपलब्ध है उसके मुताबिक कोरोना महामारी से अब तक 2238 डॉक्टर संक्रमित हो चुके हैं जबकि 382 की मौत हो चुकी है. आईएमए ने कहा कि किसी भी देश में इतने डॉक्टरों की मौत नहीं हुई जितनी मौत भारत में हुई है.

कोविड 19 से संक्रमित डॉक्टर से इलाज कराने वाली पहली बच्ची पहुंची जीटीबी  अस्पताल, घंटों इंतजार के बाद भर्ती

स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के अनुसार, देश में अब कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या 52 लाख 14 हजार हो गई है. इनमें से 84,372 लोगों की मौत हो चुकी है. एक्टिव केस की संख्या 10 लाख 17 हजार हो गई और 41 लाख 12 हजार लोग ठीक हो चुके हैं. संक्रमण के सक्रिय मामलों की संख्या की तुलना में स्वस्थ हुए लोगों की संख्या करीब चार गुना अधिक है.

6 करोड़ 15 लाख से ज्यादा सैंपल टेस्ट
ICMR के मुताबिक, 16 सितंबर तक कोरोना वायरस के कुल 6 करोड़ 15 लाख सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं, जिनमें से 10 लाख सैंपल की टेस्टिंग कल की गई. पॉजिटिविटी रेट 7 प्रतिशत से कम है. कोरोना वायरस के 54% मामले 18 साल से 44 साल की उम्र के लोगों को हैं लेकिन कोरोना वायरस से होने वाली 51% मौतें 60 साल और उससे अधिक उम्र के लोगों में हुईं हैं.

मृत्यु दर में गिरावट
राहत की बात है कि मृत्यु दर और एक्टिव केस रेट में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है. मृत्यु दर गिरकर 1.62% हो गई. इसके अलावा एक्टिव केस जिनका इलाज चल है उनकी दर भी घटकर 20% हो गई है. इसके साथ ही रिकवरी रेट यानी ठीक होने की दर 79% हो गई है. भारत में रिकवरी रेट लगातार बढ़ रहा है.

देश में सबसे ज्यादा एक्टिव केस महाराष्ट्र में हैं. महाराष्ट्र में दो लाख से ज्यादा संक्रमितों का अस्पतालों में इलाज चल रहा है. इसके बाद दूसरे नंबर पर तमिलनाडु, तीसरे नंबर पर दिल्ली, चौथे नंबर पर गुजरात और पांचवे नंबर पर पश्चिम बंगाल है. इन पांच राज्यों में सबसे ज्यादा एक्टिव केस हैं. एक्टिव केस मामले में दुनिया में भारत का दूसरा स्थान है. कोरोना संक्रमितों की संख्या के हिसाब से भारत दुनिया का दूसरा सबसे प्रभावित देश है. मौत के मामले में अमेरिका और ब्राजील के बाद भारत का नंबर है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.