पीएम मोदी ने बिहार को दी 516 करोड़ की सौगात, कोसी महासेतु का किया उद्घाटन

0
42

बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव से ठीक पहले केंद्र सरकार ने कई योजनाओं की सौगात देनी शुरू कर दी है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शुक्रवार को 516 करोड़ की लागत से निर्मित कोसी महासेतु का उद्घाटन कर दिया। आज ही पीएम मोदी सुपौल के सरायगढ़ से आसनपुर कुपहा के बीच ट्रेन भी रवाना करेंगे। इससे कोसी क्षेत्र से मिथिलांचल का सीधा रेल मार्ग से जुड़ाव हो जाएगा। 

इस रेल पुल के शुरू होते ही निर्मली से सरायगढ़ की 298 किलोमीटर की दूरी घटकर महज 22 किलोमीटर रह जाएगी। अभी निर्मली से सरायगढ़ तक के सफर के लिए लोगो को दरभंगा-समस्तीपुर-खगड़िया- मानसी-सहरसा होते हुए 298 किमी की दूरी तय करनी होती है। इस नए पुल पर जून में ही ट्रेनों के परिचालन का ट्रायल सफल रहा है।

इसके अलावा पीएम मोदी ने समस्तीपुर रेलमंडल की कई योजनाओं का उद्घाटन किया और सुपौल से आसनपुर कुपहा डेमू ट्रेन के परिचालन को भी हरी झंडी दिखाई। प्रधान मंत्री ने कहा कि कोसी रेल महासेतु को जनता को समर्पित किया जाना न सिर्फ बिहार के इतिहास में बल्कि पूर्वोत्तर क्षेत्र से संपर्क के लिए एक ऐतिहासिक क्षण है। साल 2003 में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने कोसी मेगा ब्रिज लाइन परियोजना की आधारशिला रखी थी। कोसी रेल महासेतु 1.9 किलोमीटर लंबा है और इसके निर्माण में 516 करोड़ रुपए की लागत आई।

पीएम मोदी बोले, नया बिहार गढ़ने में नीतीश कुमार की बड़ी भूमिका
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि आधुनिक बिहार को गढ़ने में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की बड़ी भूमिका है। कहा कि नए भारत, नए बिहार में सब कुछ तेजी से हो रहा है। इसी पहचान व कार्यसंस्कृति को हमें और मजबूत करना है। निश्चित तौर पर इसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की भी बहुत बड़ी भूमिका है।

बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा, ‘लॉकडाउन के दौरान बिहार के मजदूर अन्य राज्यों में फंसे हुए थे, तब आपने मजदूरों के लिए स्पेशल श्रमिक ट्रेनें चलायीं। 1371 स्पेशल ट्रेन से 19 लाख 72 हजार लोगों को निःशुल्क अपने घरों तक पहुंचाने का काम किया है.’

कार्यक्रम में रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि आज का दिन बिहार के इतिहास में स्वर्णिम दिन साबित होने वाला है. 1934 के भूकंप ने बिहार के कोसी क्षेत्र को मिथिलांचल से अलग कर दिया. उसी को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के अथक प्रयासों से आज फिर जोड़ा जा रहा है.

यूपीए सरकार के दौरान रुक गया था काम: नीतीश कुमार
इस कार्यक्रम में नीतीश कुमार ने कहा कि अटल जी के कार्यकाल में इसकी शुरुआत हुई थी, लेकिन यूपीए सरकार के दौरान पूरा काम रुक गया. अब आप आएं हैं तो इस कारण ये काम पूरा हो पाया. नीतीश ने इस दौरान अपील करते हुए कहा कि इस लाइन को आगे भी बढ़ाया जाना चाहिए, ऐसी मेरी सरकार से उम्मीद है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.