कोरोना की दूसरी लहर की चपेट में कई देश, दोबारा लॉकडाउन का बढ़ा खतरा

0
47

इजरायल ने शुक्रवार को देश में दोबारा नेशनल लॉकडाउन लागू कर दिया. तीन हफ्ते तक लोगों पर सख्त पाबंदियां लगाई गई हैं. लोग अपने घरों से एक किमी से दूर नहीं जा सकते. दोबारा नेशनल लॉकडाउन लागू करने वाला इजरायल दुनिया का पहला देश है. लेकिन कई अन्य देश भी कोरोना की दूसरी लहर के खतरे का सामना कर रहे हैं.

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा है कि ब्रिटेन में कोरोना की दूसरी लहर आती दिख रही है. उन्होंने छह महीने तक पाबंदियां लगाने की आवश्यकता जताई है. बोरिस जॉनसन का कहना है कि कोरोना की दूसरी लहर को लेकर ब्रिटेन स्पेन और फ्रांस से 6 हफ्ते पीछे है. उन्होंने कहा कि यह निश्चित है कि ब्रिटेन में दूसरी लहर आएगी.

वहीं, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने यूरोप में कोरोना की दूसरी लहर को लेकर गंभीर चिंता जाहिर की है. WHO का कहना है कि यूरोप में खतरनाक रूप से कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं. WHO के क्षेत्रीय निदेशक हंस क्लूज ने कहा कि केस बढ़ने को चेतावनी के तौर पर लेना चाहिए कि आगे क्या होने वाला है. हंस क्लूज ने यह भी कहा कि हफ्ते में आने वाले मामले की संख्या उस वक्त से अधिक हो गई है जब मार्च में यूरोप में कोरोना वायरस अपने पीक पर था. यूरोपीय क्षेत्र में हफ्ते में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या 3 लाख को पार कर गई.

यूरोप के आधे देशों ने अपने यहां बीते दो हफ्ते में नए मामलों में 10 फीसदी से अधिक बढ़ोतरी दर्ज की है. इनमें से 7 देशों में कोरोना के नए मामले दोगुने हो गए हैं. बता दें कि दुनिया में कोरोना के मामलों की कुल संख्या तीन करोड़ 69 लाख से अधिक हो गई है. जबकि 9 लाख 56 हजार से अधिक लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है.

वहीं अपने देश में भी कोरोना का कोहराम जारी है. तेजी से बढ़ते नए मामले हर रोज नया रिकॉर्ड बना रहे हैं. पिछले 24 घंटे में कोरोना से संक्रमण के 93 हजार से अधिक नए मामले सामने आए हैं. इस अवधि में 1200 से अधिक लोगों की कोरोना से संक्रमण के कारण मौत हो गई है.

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी किए गए आंकड़े के मुताबिक पिछले 24 घंटे में कोरोना से संक्रमण के 93337 नए मामले सामने आए हैं. पिछले 24 घंटे के दौरान देश में 1247 लोगों की कोरोना के कारण मौत हो गई है.

 देश में कोरोना वायरस से संक्रमण के एक्टिव केस 10 लाख 13 हजार 964 हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.