शेयर बाजार में हाहाकार, निवेशकों के 4.23 लाख करोड़ रुपए डूबे

0
45

ग्लोबल स्तर पर बिकवाली के बीच घरेलू शेयर बाजार में बीएसई सेंसेक्स सोमवार को 812 अंक लुढ़क गया जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 11,300 अंक से नीचे बंद हुआ। यूरोप में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी और एक बार फिर ‘लॉकडाउन’ की आशंका में ग्लोबल स्तर पर बाजारों में बिकवाली हुई जिसका असर घरेलू शेयर बाजारों पर पड़ा। डेनमार्क, यूनान और स्पेन ने कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण से निपटने के लिये नये सिरे से पाबंदिया लगायीं हैं। ब्रिटेन भी दूसरा देशव्यापी ‘लॉकडाउन’ लगाने पर विचार कर रहा है। इसको देखते हुए निवेशकों ने यात्रा, खपत और बैंक शेयरों में बिकवाली की।

यह लगातार तीसरी कारोबारी सत्र है जब शेयर बाजार नीचे आया है। तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 811.68 अंक यानी 2.09% की गिरावट के साथ 38,034.14 अंक पर बंद हुआ। इसी प्रकार, एनएसई निफ्टी भी 254.40 अंक यानी 2.21% का गोता लगाकर 11,250.55 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स के शेयरों में सर्वाधिक नुकसान इंडसइंड बैंक को हुआ। इसमें 8.67% की गिरावट आयी। इसके अलावा जिन अन्य प्रमुख शेयरों में गिरावट रही, उनमें भारती एयरटेल, टाटा स्टील, आईसीआईसीआई बैंक, महिंद्रा एंड महिंद्रा, मारुति, एक्सिस बैंक और ओएनजीसी शामिल हैं।

दूसरी तरफ सेंसेक्स के केवल तीन शेयर कोटक बैंक, इन्फोसिस और टीसीएस लाभ में रहे। इनें 0.86% तक की तेजी आयी। इस गिरावट से निवेशकों की संपत्ति 4.23 लाख करोड़ रुपये घट गयी। बीएसई में सूचीबद्ध सभी कंपनियों का बाजार पूंजीकरण घटकर 1,54,76,979.16 पर आ गया।

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि दोपहर के कारोबार में मुनाफवासूली के चलते घरेलू शेयर बाजारों में 2% से अधिक गिरावट आयी। यह वैश्विक बाजारों के अनुरूप है जहां यूरोप समेत कई देशों में संक्रमण के मामले बढ़ने से धारणा नकारात्मक हुई है।

उन्होंने कहा कि संक्रमण बढ़ने के कारण यूरोप में अतिरिक्त पाबंदियों पर विचार किया जा रहा है। उच्च मूल्य के साथ इस बात की चिंता है कि कंपनियों की कमाई फिलहाल उस मूल्य के अनुरूप नहीं होंगी। ऐसे में बाजार में अनिश्चितता रह सकती है। निवेशकों को सतर्क रहने की जरूरत है।

वैश्विक स्तर पर एशिया के अन्य बाजारों में चीन का शंघाई, हांगकांग और दक्षिण कोरिया के सोल में उल्लेखनीय गिरावट रही। यूरोप के प्रमुख बाजारों में भी शुरूआती कारोबार में भारी बिकवाली रही और तीन% तक गिरावट आयी। इस बीच, वैश्विक तेल मानक ब्रेंट क्रूड 2.04% गिरकर 42.27 डॉलर प्रति बैरल पर करोबार कर रहा था। इधर, विदेशी विनिमय बाजार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 7 पैसे मजबूत होकर 73.38 पर बंद हुआ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.