नवादा:रंगदारी मांगने वाले गिरोह का पुलिस ने किया खुलासा, चौकीदार पुत्र समेत तीन को दबोचा

0
44

जिले की पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने रंगदारी मांगने वाले गिरोह का खुलासा किया है। पुलिस ने गिरोह के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया है जिसमें एक चौकीदारी के बेटा भी शामिल है।एसडीपीओ मुकेश कुमार साहा ने इस बात की जानकारी देते हुए बताया कि 20 सितम्बर 2020 को कौआकोल निवासी यदुनन्दन सिंह के पुत्र रविशेखर कुमार से अपराधियों ने कॉल कर 8 लाख रुपये की रंगदारी की मांग की थी। इसके बाद उसी नम्बर से पचम्बा गांव निवासी लाक्षो साव के पुत्र संजीत कुमार से भी उसी दिन 4 लाख रुपये रंगदारी की मांग की गई। रंगदारी की मांग के बाद पीड़ित रविशेखर द्वारा घटना की लिखित प्राथमिकी 20 सितम्बर को कौआकोल थाना में मामला दर्ज कराया गया। वहीं संजीत द्वारा 23 सितम्बर को लिखित प्राथमिकी दर्ज करवाई गई। प्राथमिकी दर्ज होने के बाद अपराधियों द्वारा फिर रंगदारी की मांग का रिमाइंड किया गया।

जिसके बाद नवादा एसपी हरि प्रसाथ एस के निर्देश के पर कौआकोल थानाध्यक्ष एवं डीआईयू की एक टीम का गठन कर अनुसंधान प्रारम्भ किया गया। अनुसंधान के क्रम में नालन्दा जिला के कतरीसराय थाना क्षेत्र के शाहाबाद गांव में छापेमारी कर भुनेश्वर पासवान के बेटा राहुल कुमार और रामजी पासवान के बेटा जितेंद्र कुमार को मोबाइल फोन एवं घटना में प्रयुक्त उक्त नम्बर के सिम के साथ गिरफ्तार किया गया। दोनों से पूछताछ के बाद कौआकोल के ओखरिया गांव के चौकीदार रामविलास पासवान के पुत्र करमवीर कुमार को गिरफ्तार किया गया। 

एसडीपीओ ने बताया कि रविशेखर कुमार के मकान में जितेंद्र कुमार का भाई किराया पर रहकर राजमिस्त्री का काम करता था। जहां उसका भाई राहुल और उसका सगा भांजा करमवीर का हमेशा आना जाना लगा रहता था। इसी क्रम में करमवीर द्वारा राहुल को रविशेखर का नम्बर उपलब्ध करवाकर रंगदारी की मांग की गई।

एसडीपीओ के अनुसार संभावना जताई जा रही है कि इन अपराधियों के तार साइबर क्राइम से भी जुड़ा हुआ है। जिसका अनुसंधान के बाद पटाक्षेप किया जा सकेगा। मौके पर प्रेस वार्ता में एसडीपीओ के अलावे कौआकोल थानाध्यक्ष मनोज कुमार,डीआईयू की टीम के अलावे एसआई अंशु प्रभा भी मौजूद थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.