बिहार चुनाव2020: लालू के सिग्नेचर पर सियासी बवाल! BJP-JDU बोली- सजायाफ्ता को नहीं है यह अधिकार

0
41

राष्ट्रीय जनता दल के सिंबल पर पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने सिग्नेचर कर दिया है. 150 ‘सिंबल लेटर’ यानी प्रत्याशियों को चुनाव चिह्न पर लडऩे का अधिकार पत्र पर हस्ताक्षर के साथ ही यह तय हो गया है कि राजद पहले चरण के लिए अपने उम्मीदवारों की घोषणा अब कभी भी कर सकता है. राजद नेता भोला यादव द्वारा लालू का साइन लेकर पटना लौटने के बाद से ही बिहार का सियासी तापमान बेहद गर्म है. भारतीय जनता पार्टी और जनता दल यूनाइटेड ने इस मसले को लेकर RJD पर निशाना साधा है. BJP MLC सम्राट चौधरी ने कहा है कि राजद अपनी ही पार्टी के संविधान का मखौल उड़ा रही है. पार्टी के संविधान में है कि कोई सजायाफ्ता व्यक्ति पार्टी के सक्रिय सदस्य या किसी पद पर नहीं रह सकता, फिर पार्टी के सिंबल पर लालू यादव का साइन क्योंं करवाया गया.?

इधर JDU नेता संजय सिंह का कहना है कि यह देश के लोकतंत्र के लिए काला धब्बा है कि एक सजायाफ्ता व्यक्ति पार्टी के सिंबल पर हस्ताक्षर कर रहा है. लोग देख रहे हैं और RJD का हश्र लोकसभा चुनाव वाला ही होगा. राजद  इस बार भी जीरो पर सिमट जाएगा.

वहीं, चार दिन पहले तक RJD के साथ चलने वाली पार्टी RLSP के प्रवक्ता धीरज सिंह कुशवाहा भी लालू यादव के बहाने RJD पर हमला बोलने से गुरेज़ नहीं कर रहे. धीरज सिंह ने कहा कि एक सज़ायाफ्ता व्यक्ति पार्टी के सिंबल पर कैसे साइन कर सकता है. इस बात का उल्लेख RJD के ही संविधान में है कि कोई सजयाफ्ता व्यक्ति पार्टी का सक्रिय सदस्य नही रह सकता तो फिर लालू यादव पार्टी के टिकट पर कैसे साइन किया है? या तो RJD अपना संविधान को बदले या फिर सिंग्नेचर अथॉरिटी.

इस विवाद के बीच RJD विधायक शक्ति सिंह यादव अपनी पार्टी और पार्टी प्रमुख लालू प्रसाद यादव का बचाव करते हुए कहते हैं कि वे हमारी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं तो सिम्बल पर उनका सिंग्नेचर नहीं होगा तो क्या दूसरे दल के लोगों का साइन होगा?  ये लोग बेतुकी बात कर रहे हैं. दरअसल लालू यादव के नाम पर ही इन लोगों की सियासत चल रही है, इसलिए ये लोग हर बात उनका नाम लेते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.