बिहार चुनाव 2020: चुनावी अखाड़े में पिता पुत्र के बाद अब ससुर दामाद की जोड़ी भी

0
29

नेताजी तो नेताजी दामाद समधन और बेटी की चुनावी अखाड़े में ताल ठोकने उतर गए हैं. समाजवाद के नाम पर परिवारवाद का इस बार ऐसा चेहरा सामने आ रहा है कि कल तक पुत्र पोता और पत्नी बहु मैदान में होते थे अब दामाद जी भी मैदान में हैं. बिहार विधानसभा के मौजूदा चुनाव में 3 जोड़ी ससुर दामाद ताल ठोकने उतर चुके हैं. बता दें कि यह सभी अलग-अलग विधानसभा क्षेत्रों से चुनावी मैदान में उतरे हुए हैं.एक ही दल से चुनावी मैदान में उतरने वाले दामाद नंबर वन हैं जदयू के प्रवक्ता निखिल मंडल जी,हां नीतीश कुमार कैबिनेट के विधि मंत्री और 25 साल से लगातार जीत दर्ज कराने वाले जदयू नेता नरेंद्र नारायण यादव एक बार फिर से मधेपुरा जिले के आलमनगर सीट से किस्मत आजमा रहे हैं तो वहीं उनके दामाद निखिल मंडल मधेपुरा से जोर आजमाइश में जुट गए हैं.

दामाद नंबर दो हैं, देवेंद्र मांझी यहां भी ससुर दामाद एक ही दल से अलग-अलग विधानसभा क्षेत्र में चुनाव लड़ रहे हैं. हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने अपने दामाद देवेंद्र मांझी को जहानाबाद जिले की मखदुमपुर सीट से उम्मीदवार बनाया है. वहीं मांझी खुद गया जिले के इमामगंज सीट से चुनाव लड़ रहे हैं. इतना ही नहीं जीतन राम मांझी ने अपनी समधन ज्योति देवी को भी बाराचट्टी से उम्मीदवार बनाया है .मतलब एक ही दल में दामाद,समधन और ससुर तीनों उम्मीदवार बने हैं. अब देखना यह होगा कि किसका किस्मत साथ देता है.

देवेन्द्र मांझी और जितन राम मांझी

दामाद नंबर 3 पर हैं लालू प्रसाद के बड़े लाल व राजद नेता तेज प्रताप यादव. गौरतलब है कि तेज प्रताप यादव पूर्व मंत्री चंद्रिका राय के दामाद हैं. तेज प्रताप की शादी चंद्रिका राय की बेटी ऐश्वर्या राय से हुई थी लेकिन बाद में रिश्ते में दरार आ गई. दामाद और ससुर दोनों अलग-अलग दल से और अलग-अलग विधानसभा क्षेत्र से किस्मत आजमा रहे हैं. बता दें कि तेज प्रताप यादव ने तो अपना विधानसभा सीट भी बदल लिया है. वहीं चंद्रिका राय अपने पूर्व विधानसभा क्षेत्र परसा से ही चुनाव लड़ रहे हैं. तेज प्रताप यादव समस्तीपुर के हसनपुर से चुनाव लड़ रहे हैं तो दूसरी तरफ ससुर चंद्रिका राय ने अपने दामाद तेज प्रताप का हर कीमत पर विरोध करने का मन बना लिया है. यानी चंद्रिका राय की तरफ से तेज प्रताप को हसनपुर में हाशिए पर ले जाने की पूरी कोशिश होने वाली है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.