पुजारी हत्याकांड: पीड़ित परिवार ने 10 लाख के मुआवजे और सरकारी नौकरी के आश्वासन के बाद अंतिम संस्कार किया, पटवारी-एसएचओ निलंबित

0
43

राजस्थान के करौली जिले के सपोटरा इलाके के बूकना गांव में दबंगों ने पुजारी बाबूलाल वैष्णव की जलाकर हत्या कर दी थी। शव शुक्रवार देर रात जयपुर से उनके गांव लाया गया। इसके बाद परिवार ने अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिया। परिवार ने 50 लाख रुपए का मुआवजे और एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की मांग रखी थी।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने परिवार को 10 लाख मुआवजे और एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने का आश्वासन दिया। इसके बाद परिवार ने अंतिम संस्कार किया। आरोपियों की मदद करने वाले पटवारी और एसएचओ को भी निलंबित कर दिया गया है। इस मांग को लेकर गांव में विरोध और प्रदर्शन भी किया गया था।

राजस्थान: पुजारी की मौत के 48 घंटे बाद भी नहीं हुआ अंतिम संस्कार, परिवार  वालों ने रखी कई मांगें - family members of priest refuse to perform last  funeral

डॉक्टर किरोड़ी ने कहा- पीड़ित परिवार को कुछ हद तक न्याय मिला है

परिवार को इंदिरा आवास सहित सरकारी योजनाओं का लाभ परिवार को दिया जाएगा। राज्य सरकार के इस आश्वासन के बाद डॉक्टर किरोड़ी ने कहा कि पीड़ित परिवार को कुछ हद तक न्याय मिला है। दरअसल, जमीन विवाद पर बाबूलाल को गांव के दबंगों ने बुधवार को पेट्रोल डालकर जला दिया था।

जयपुर के SMS अस्पताल में इलाज के दौरान गुरुवार को उनकी मौत हो गई। पुलिस ने मुख्य आरोपी कैलाश मीणा को गिरफ्तार कर लिया है। बाकी आरोपियों की तलाश जारी है। करौली के बूकना गांव जयपुर से 175 किमी दूर है।

राज्यपाल कलराज मिश्र ने अशोक गहलोत से बात की
राज्यपाल कलराज मिश्र ने सुबह मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से राजस्थान में हो रहे अपराधों पर फोन कर चर्चा की। इस दौरान राज्यपाल ने करौली में पुजारी को जिंदा जलाने, बाड़मेर में नाबालिग से बलात्कार सहित प्रदेश की कानून-व्यवस्था के बारे में चिंता जताई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.