बिहार चुनाव 2020: BJP ने पूछा बिहार में कौन सी शिवसेना चुनाव लड़ेगी, बाला साहेब वाली या कांग्रेस की पिछलग्गू, चुनाव चिन्ह भी बदला

0
48

शिवसेना को बिहार चुनाव के लिए बिस्कुट चिन्ह मिला है, पार्टी बदलवाना चाहती है निशान

शिवसेना के विधानसभा चुनाव लड़ने पर भाजपा ने तंज कसा है। पार्टी के पूर्व सांसद आरके सिन्हा ने कहा है कि बिहार में कौन सी शिव सेना चुनाव लड़ने जा रही है, बालासाहेब ठाकरे वाली या सोनिया गांधी के इशारे पर काम करने वाली पार्टी। 

आर के सिन्हा ने कहा कि शिवसेना ने अपने उम्मीदवार खड़ा करने का निर्णय लिया है। स्टार प्रचारकों की सूची भी जारी कर दी है। इसमें वे नेता भी हैं जिनके नाम पिछले चार महीनों से सुशांत सिंह राजपूत प्रकरण में लोग प्रतिदिन रहे हैं। अब सवाल यह है कि कौन सी शिव सेना चुनाव लडेगी बिहार में। एक बार तो बाला साहेब ठाकरे के समय में भी लड़ ही चुकी है। सभी जगह जमानत जब्त कर मुंबई वापस लौट चुकी है। 

बता दें कि बिहार के चुनावी दंगल में ताल ठोककर उतरी शि‍वसेना के लिए एक अजीब समस्या खड़ी हो गई है. प्रचार अभि‍यान शुरू करने से पहले अब पार्टी को अपने चुनाव चिन्ह को लेकर माथापच्ची करनी पड़ रही है. दरअसल, शि‍वसेना का चुनाव चिन्ह तीर-धनुष है, जो राज्य में पहले से मौजूद झारखंड मुक्ति‍ मोर्चा का भी चुनाव चिन्ह है.

गौरतलब है कि झामुमो और शि‍वसेना दोनों को ही राज्य स्तर की पार्टी का दर्जा मिला हुआ है. शि‍वसेना महाराष्ट्र में तो झामुमो झारखंड में तीर-धनुष के साथ चुनाव लड़ती आई है. ऐसे में दूसरे राज्यों में इनका अपने चुनाव चिन्ह पर एकाधि‍कार नहीं है. हालांकि, बिहार में तीर-धनुष पर पहला दावा झामुमो का बनता है, क्योंकि उसने 2010 में भी बिहार में 60 उम्मीदवारों को उतारा था. इनमें से एक प्रत्याशी को जीत भी मिली थी.

‘हम कोशिश में हैं लोग प्रत्याशी को जानें’
एक अंग्रेजी अखबार से बात करते हुए शि‍वसेना नेता और बिहार में चुनाव प्रभारी संजय राउत ने कहा, ‘हम लोग बिहार में इस समस्या का सामना कर रहे हैं. हमें यहां अपना चुनाव चिन्ह नहीं मिला. हमलोग कोशि‍श कर रहे हैं कि लोग सेना के प्रत्याशी को जानें.’

राउत ने बताया कि शिवसेना के 37 प्रत्याशियों की लिस्ट जारी कर दी गई है. शेष नामों की घोषणा भी जल्द की जाएगी. उन्होंने कहा, ‘पार्टी बिहार में 150 सीटों पर चुनाव लड़ रही है.’ प्रचार अभि‍यान के बारे में राउत ने कहा कि पार्टी अध्यक्ष उद्धव ठाकरे बिहार में वोट मांगने नहीं आएंगे. उन्होंने कहा कि उद्धव के बेटे आदित्य ठाकरे बिहार में जनसभा को संबोधि‍त करेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.