रिपब्लिक टीवी और टाइम्स नाउ के खिलाफ हाईकोर्ट पहुंचा बॉलीवुड, तीन दर्जन प्रोडक्शन हाऊस ने दायर की याचिका

0
41

बॉलीवुड की 4 एसोसिएशन और 34 फिल्म निर्माताओं ने दिल्ली हाईकोर्ट में रिपब्लिक टीवी के अर्णब गोस्वामी, प्रदीप भंडारी, टाइम्स नाउ चैनल के राहुल शिवशंकर और नविका कुमार और कई अन्य अज्ञात के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट में मामला दायर किया है। इस केस में फिल्म निर्माताओं और बॉलीवुड एसोसिएशन ने कहा है कि ये चैनल फिल्म उद्योग के बारे में अपमानजनक और अर्नगल बातें कहते हैं और बदमान करने की कोशिश करते हैं। अपील में फिल्म निर्माताओं ने इन चैनलों को इस तरह की बयानबाजी, कार्यक्रम या खबर प्रकाशन पर रोक लगाने की मांग की है। अपील में कहा गया है कि इन चैनलों को किसी भी मामे के मीडिया ट्रायल से रोका जाए क्योंकि यह बॉलीवुड से जुड़े लोगों की निजता का उल्लंघन है।

अपील में कहा गया है कि इन चैनलों को केबिल टेलीविजन नेटवर्क नियम 1994 के तहत प्रोग्रामिंग कोड का पालन करने को कहा जाए। साथ ही इनके द्वारा अब तक प्रकाशित या प्रसारित वह सभी सामग्री वापस लेने को कहा जाए जो इन चैनलों ने बॉलीवुड के खिलाफ दिखाई या प्रकाशित की है।

अपील में याचिकाकर्ताओं ने कहा है कि इन चैनलों ने बॉलीवुड के लिए तरह-तरह के अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल किया है और बॉलीवुड को दुनिया की सबसे गंदी फिल्म इंडस्ट्री कहा है। अपील में कहा गया है कि बॉलीवुड एक सम्मानजनक उद्योग है जिसे मान्यता मिली हुई है। कई दशकों से बॉलीवुड सरकार के लिए राजस्व का एक बड़ा स्त्रोत भी है और विदेशी मुद्रा भी कमाता है। इतना ही नहीं बॉलीवुड असंख्य लोगों को रोजगार मुहैया कराता है।

अपील के मुताबिक बॉलीवुड के खिलाफ चलाए गए इस अभियान से उन लोगों की रोजी-रोटी पर संकट खड़ा हुआ है जो इससे जुड़े हुए हैं। अपील में कहा गया है कि पहले ही कोविड महामारी के कारण फिल्म उद्योग पर संकट है, ऐसे में इस तरह के अभियान से उसे और नुकसान हुआ है। अपील के मुताबिक न्यूज चैनलों ने बॉलीवुड को क्रिमिनल और ड्रग एडिक्ट करार दे दिया है।

जिन लोगों ने इस अपील को दायर किया है उनमें बॉलीवुड के कई बड़े नाम शामिल हैं।

  • प्रोड्यूसर्स गिल्ड ऑफ इंडिया
  • सिने एंड टीवी आर्टिस्ट एसोसिएशन
  • फिल्म एंड टीवी प्रोड्यूसर्स काउंसिल
  • स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन
  • आमिर खान प्रोडक्शन्स
  • अजय देवगन फिल्म
  • एड-लैब फिल्म्स
  • आंदोलन फिल्म्स
  • अनिल कपूर फिल्म एंड कम्यूनिकेशन नेटवर्क
  • अरबाज़ खान प्रोडक्शन
  • आशुतोष गोआरिकर प्रोडक्शंस
  • बीएसके नेटवर्क एंड एंटरटेनमेंट
  • केप ऑफ गुड फिल्म्स
  • क्लीन स्लेट फिल्म्स
  • धर्मा प्रोडक्शंस
  • एमए एंटरटेनमेंट एंड मोशन पिक्चर्स
  • एक्सेल एंटरटेनमेंट
  • फिल्मक्राफ्ट प्रोडक्शंस
  • होप प्रोडक्शंस
  • कबीर खान फिल्म्स
  • लव फिल्म्स
  • मैकगफिन पिक्चर्स
  • नाडियाडवाला ग्रांडसंस एंटरटेनमेंट
  • वन इंडिया स्टोरीज़
  • आर एस एंटरटेनमेंट
  • राकेश ओमप्रकाश मेहरा पिक्चर्स
  • रेड चिली एंटरटेनमेंट
  • रिलायंस बिग एंटरटेनमेंट
  • रील लाइफ प्रोडक्शंस
  • रोहित शेट्टी पिक्चर्स
  • रॉय कपूर प्रोडक्शंस
  • सलमान खान वेंचर्स
  • सोहेल खान प्रोडक्शंस
  • शिक्या एंटरटेनमेंट
  • टाइगर बेबी डिजिटल
  • विनोद चोपड़ा फिल्म्स
  • विशाल भारद्वाज फिल्म्स
  • यशराज फिल्म्स
यहाँ एक बात गौर करने वाली है की बॉलीवुड freedom of expression का इस्तेमाल कर किसी पर कोई भी ना सिर्फ टिप्पणी करता है बल्कि फिल्म के जरिए अपनी राय भी देता है लेकिन अपने ऊपर उसे किसी किस्म की कोई रॉय पसंद नहीं है भले ही वो तर्क दे की माल , हश और वीड सिगरेट के बारे में उनका कोड है ना की ड्रग के बारे में। चलिए इसी बहाने freedom of expressionभी परिभाषित हो जाए तो अच्छा होगा।
Image

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.