पीएम की रैली में शामिल होने के लिए करना होगा कोरोना नियमों का पालन, बाकी नेताओं की सभाओं में उड़ रही नियमों की धज्जियां

0
37

बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर भारतीय जनता पार्टी ने अपने स्टार प्रचारक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैलियों की तैयारियों को अंतिम रूप देना शुरू कर दिया है. पीएम मोदी आगामी 23 अक्टूबर से बिहार में चुनावी रैलियों की शुरुआत करने वाले हैं. 23 अक्टूबर से 3 नवंबर तक राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के उम्मीदवारों के समर्थन में पीएम मोदी 12 चुनावी रैलियों को संबोधित करेंगे. इन रैलियों के साथ-साथ पीएम मोदी की वर्चुअल सभाएं भी होंगी, जिसके जरिए समूचे प्रदेश के विधानसभा क्षेत्रों के मतदाताओं तक वे अपनी बात पहुंचाएंगे.

कोरोना काल में हो रहे विधानसभा चुनाव के बीच मौजूदा राजनीतिक हालात में एनडीए और खासकर बीजेपी के लिए पीएम मोदी की ये रैलियां अहम हैं. राष्ट्रीय जनता दल के मुख्यमंत्री पद के दावेदार तेजस्वी यादव की चुनावी रैलियों में जिस तरह से भीड़ की तस्वीरें आ रही हैं, उसको देखते हुए पीएम मोदी की रैली में भी बड़ी संख्या में लोगों के आने की उम्मीद है. इसके मद्देनजर रैली में आने वालों के लिए कई नियम भी तय किए गए हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बिहार में होने वाली चुनावी रैलियों में उनके साथ एनडीए के घटक दलों के सभी प्रमुख नेता भी साथ होंगे. पीएम मोदी के साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी इन रैलियों का हिस्सा होंगे. उनके अलावा वीआईपी और हम के नेता भी पीएम मोदी के साथ मंच साझा करेंगे.

कोरोना वायरस महामारी के संक्रमण का खतरा न हो, इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली में सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना होगा. साथ ही प्रशासन की ओर से जो भी दिशा-निर्देश होंगे, वे भी मानने होंगे.पीएम मोदी की रैली में आने वाले सभी लोगों को मास्क लगाना जरूरी होगा. रैली में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए सैनेटाइजर की व्यवस्था भी की जाएगी, जिसका इंतजाम भारतीय जनता पार्टी की ओर से किया जाएगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुनावी रैलियों के साथ-साथ बीजेपी की वर्चुअल सभाएं भी चलाने का कार्यक्रम है. जहां भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा होगी, उसके आसपास के विधानसभा क्षेत्रों में एलईडी स्क्री लगाकर उनकी सभा का प्रसारण किया जाएगा.पीएम की रैली जिस जिले में होगी, उसके पास के 20 विधानसभा क्षेत्रों में एनडीए की तरफ से एलईडी स्क्रीन लगाई जाएंगी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भाषण एक साथ 100 मैदानों में सुना जा सकेगा.

चुनाव को ले सभी डाल के नेता ताबड़ तोड़ रैली कर रहे हैं और इन सभाओं में उड़ रही कोरोना नियमों की धज्जियां। कई नेताओं पर FIR भी दर्ज कराया गया है लेकिन कोरोना के नियम पालन पर कोई भी गंभीर नहीं दिख रहा , ऐसे में प्रधानमंत्री की रैली लोगों को कोरोना से सावधानी का भी पाठ पढ़ाया जा सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.