बिहार चुनाव 2020: तेजस्‍वी से मिलने राबड़ी आवास पहुंचे LJP के प्रदेश अध्‍यक्ष प्रिंस राज

0
105

एनडीए गठबंधन का हिस्सा रहे एलजेपी का बिहार चुनाव में भूमिका को लेकर लगातार सवाल उठ रहे हैं. इसी बीच एलजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सांसद प्रिंस राज पूर्व मुख्यमंत्री व आरजेडी प्रमुख व पूर्व सीएम लालू यादव की पत्नी राबड़ी देवी के आवास पहुंचे. इस दौरान उन्होंने आरजेडी से सीएम उम्मीदवार तेजस्वी यादव से भी मुलाकात की. हालांकि इस मुलाकात को राजनीति से जोड़कर न देखने की बात उन्होंने कही. प्रिंस राज ने कहा कि वे दिवंगत रामविलास पासवान के श्रद्धांजलि सभा में शामिल होने को लेकर न्यौता देने राबड़ी आवास आये थे.

बता दें कि बिहार में विधानसभा चुनाव की सरगर्मी तेज है. पहले चरण की वोटिंग इसी महीने की अंतिम सप्ताह में होनी है. ऐसे में राजनीतिक विरोधी माने जाने वाले एलजेपी और आरजेडी के नेताओं की मुलाकात के कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं. हालांकि एलजीपी के प्रदेश अध्यक्ष प्रिस राज का कहना है कि राबड़ी देवी के परिवार से उनके परिवारिक सबंध हैं. इस मुलाकात को राजनीतिक रूप से जोड़कर ना देखा जाए.

बता दें कि स्व. रामविलास पासवान के श्राद्धकर्म में शामिल होने के लिए आयोजित कार्यक्रम में पीएम और सीएम नीतीश कुमार के अलावा केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, डिप्टी सीएम सुशील मोदी समेत दर्जनों नेताओं को भी न्योता भेजा गया है. आज स्व. रामविलास पासवान की श्रद्धांजलि सभा पटना स्थित उनके घर में आयोजित की गई है.

राम विलास से जुड़े सभी नेताओं को भेजा जा रहा निमंत्रण : इसके साथ ही समेत मोदी मंत्रिमंडल के सभी मंत्रियों और सासदों को न्योता भेजने का काम शुरू हो गया है। ऐसे में मंगलवार को पटना में देशभर के दिग्गज नेताओं का जुटान होने जा रहा है। रामविलास पासवान के भाई पशुपति पारस ने बताया कि उनके बड़े भाई को चाहने वाले सभी लोगों को न्योता भेजा रहा है।

चिराग ने पिता रामविलास पासवान के दशकर्म पर कराया मुंडन : लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान ने रविवार को राजधानी पटना के दीघा स्थित जनार्दन घाट पर अपने पिता रामविलास पासवान के दशकर्म पर अपना मुंडन कराया। 20 अक्टूबर को रामविलास पासवान का श्राद्धकर्म है। इसके लिए प्रदेश लोजपा कार्यालय में तैयारियां शुरू हो गई हैं।

इससे पहले 19 अक्टूबर को स्व.रामविलास पासवान के पैतृक गांव शहरबन्नी, अलौली (खगड़िया) में श्राद्धकर्म हुआ .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.