विधान परिषद चुनाव में ग्रेजुएट पर भारी पड़े शिक्षक मतदाता, ग्रेजुएट में 48.50 और शिक्षक निर्वाचन में 72.50 हुई वोटिंग

0
46

बिहार विधान परिषद शिक्षक स्नातक निर्वाचन में शिक्षक मतदाता ग्रेजुएट पर भारी पड़े हैं। बिहार विधान परिषद के द्विवर्षीय निर्वाचन के तहत स्नातक एवं शिक्षक निर्वाचन क्षेत्रों की चार-चार सीटों के लिए हुए मतदान में ग्रेजुएट में 48.50 और शिक्षक निर्वाचन में 72.50 वोटिंग हुई है। ग्रेजुएट निर्वाचन में कोसी में सबसे अधिक 58.52 प्रतिशत रही जबकि शिक्षक निर्वाचन में सारण क्षेत्र में सबसे अधिक 85 प्रतिशत वोटिंग हुई है। गुरुवार को दोपहर बाद मतदाता घर से बाहर निकले। दोपहर 12 बजे तक मतदान का ग्राफ काफी कम था। पटना सहित कई जिलों में मतदान का ग्राफ 10 प्रतिशत रहा लेकिन दोपहर बाद से अचानक ग्राफ तेजी से आगे बढ़ा।

जानिए कहां-कहां कितनी वोटिंग

पटना ग्रेजुएट में 44.53, तिरहुत ग्रेजुएट में 43.91, दरभंगा ग्रेजुएट में 47.28, कोसी ग्रेजुएट में 58.52 प्रतिशत मतदान हुआ है। वहीं शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र में पटना शिक्षक निर्वाचन में 55.30, सारण शिक्षक निर्वाचन में 85, तिरहुत में 79.77 और दरभंगा शिक्षक 70.03 प्रतिशत मतदान हुआ है। मतदान का औसत ग्रेजुएट में 48.50 और शिक्षक में 72.50 रहा है।

वर्ष 2014 पर भारी पड़ा कोरोना काल का चुनाव

वर्ष 2014 में बिहार विधान परिषद शिक्षक स्नातक निर्वाचन में हालात सामान्य रहा लेकिन इसके बाद भी कोरोना काल का चुनाव भारी पड़ा है। वर्ष 2014 में ग्रेजुएट निर्वाचन में 48.50 प्रतिशत औसत मतदान हुआ था जबकि कोरोना काल में मुश्किलों के साथ हुए चुनाव में भी औसत मतदान का प्रतिशत भी 48.50 रहा। वहीं शिक्षक निर्वाचन में वर्ष 2014 में मतदान का प्रतिशत 64 प्रतिशत रहा जबकि कोरोना काल में मतदान में 72.50 प्रतिशत औसत मतदान हुआ है।

स्नातक निर्वाचन में 59 प्रत्याशियों का भाग्य बाक्स में बंद

स्नातक निर्वाचन में 59 प्रत्याशियों का भाग्य गुरुवार को बाक्स में बंद हो गया है। स्नातक निर्वाचन में दरभंगा स्नातक, तिरहुत स्नातक, कोसी स्नातक में कुल 633 पोलिंग स्टेशन बनाए गए थे। यहां कुल 407889 मतदाताओं की संख्या है जिसमें 307363 पुरुष और 100480 महिला व 46 थर्ड जेंडर मतदाता हैं।
शिक्षक निर्वाचन में 43 प्रत्याशियों के भाग्य बाक्स में बंद

शिक्षक निर्वाचन में कुल 43 प्रत्याशियों का भाग्य बाक्स में बंद हो गया है। गुरुवार देर शाम बाक्स को स्ट्रांग रूम में बंद हो गया। शिक्षक निर्वाचन में पटना शिक्षक,दरभंगा शिक्षक, तिरहुत शिक्षक और सारण में हुआ। यहां 40415 मतदाताओं में 31694 पुरुष और 8715 महिला व 4 थर्ड जेंडर मतदाता शामिल हैं। इसके लिए 340 पोलिंग स्टेशन पूरे प्रदेश में बनाए गए थे।

न वोटर आए न कोई शिकायत

निर्वाचन कार्यालय में दोपहर 4 बजे तक कोई शिकायत नहीं मिली थी। निर्वाचन कार्यालय का कहना है कि न तो कोई सामान्य शिकायत आई है और ना ही कोई गंभीर। पटना के प्रमडलीय आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल और डीएम पटना कुमार रवि ने बताया कि सुबह 8 बजे से मतदान प्रारंभ है, वोटरों की संख्या काफी कम है। सुरक्षा को लेकर पूरा ध्यान दिया जा रहा है। मतदाताओं से अपील भी की जा रही है कि वह वोटिंग के लिए आएं कोरोना का कोई खतरा नहीं है। वोटिंग का काम पूरी तरह से सुरक्षा के साथ किया जा रहा है।

मॉडल बूथ की बत्ती हुई गुल

पटना के नाट्रेडम हाई स्कूल दीघा बूथ संख्या 22 पर लोग मतदान करने के लिए धीरे-धीरे पहुंच रहे हैं। वहीं कोरोना से बचने के लिए पुलिसकर्मियों को फेस शील्ड दी गई है। लेकिन वो इसका प्रयोग नहीं कर रहे हैं। मतदाताओं को मास्क और सैनिटाइजर का इस्तेमाल करना अनिवार्य है। लेकिन कई मतदाता लापरवाही बरतते दिख रहे हैं। वे बार- बार मास्क को छूते-हटाते नजर आ रहे हैं। यहां पहले वोट में 14 मिनट लगा। इस मॉडल बूथ की बत्ती कुछ देर के लिए गुल हो गई। लोग मोबाइल की फ्लैश लाइट में वोट डालते दिखे।

मॉडल बूथ की बत्ती कुछ देर के लिए गुल हो गई। लोग मोबाइल की फ्लैश लाइट में वोट डालते दिखे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.