राहुल गांधी के बाद अब राजबब्बर के हेलीकॉप्टर की लैंडिंग को लेकर विवाद

0
44

प्रदेश कांग्रेस ने चुनाव में स्थानीय प्रशासन पर पक्षपात का आरोप लगाया है। कांग्रेस ने चुनाव आयोग से शिकायत की है कि सत्ता पक्ष के मेल में आकर प्रशासन कांग्रेस के कार्यक्रमों की जानबूझकर देर से अनुमति दे रहा है। इससे उसका प्रचार अभियान प्रभावित हो रहा है। कांग्रेस ने पहले चरण के चुनाव प्रचार में स्टार प्रचारक अभिनेता व सांसद राजबब्बर के हेलीकॉप्टर की लैंडिंग की मंजूरी मिलने में हुई देरी पर भी सवाल उठाया है।

bihar elections 2020  bihar assembly elections  congress  rahul gandhi  raj babbar  election commiss

कांग्रेस की लीगल कमेटी चेयरमैन वरुण के चोपड़ा, कन्वेनर आशुतोष रंजन  पांडेय ने आयोग को ज्ञापन सौंपकर यह शिकायत की है। इन्होंने शिकायत में कहा है कि स्थानीय प्रशासन राजग गठबंधन के हितों को ध्यान में रखकर कांग्रेस के कार्यक्रमों की अनुमति देने में देरी कर रहा है। उदाहरण देते हुए कहा गया है कि उनके स्टार प्रचारक राजबब्बर के हेलीकॉप्टर की लैंडिंग की अनुमति आखिरी क्षणों में दी गई। उन्होंने कहा है कि ऐसा जानबूझकर किया जा रहा है, जो लोकतंत्र में सबको समान अवसर की भावना के प्रतिकूल है।

कांग्रेस की इस शिकायत को चुनाव आयोग ने गंभीरता से लिया है। उपमुख्य निर्वाचन पदाधिकारी बैजूनाथ कुमार सिंह ने इससे संबंधित दिशा निर्देश सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को दिए हैं। उन्होंने कहा है कि कांग्रेस की शिकायत पर समय सीमा के अंदर जांच कर कार्रवाई की जाये।

छह घंटे के भीतर अनुमति देने की हो व्यवस्था :
कांग्रेस ने अपनी शिकायत में कहा है कि 20 अक्टूबर को राजबब्बर के हेलीकॉप्टर की लखीसराय में लैंडिंग के लिए 19 अक्टूबर को दिन में साढ़े 11 बजे तक अनुमति नहीं दी गई। कांग्रेस ने आयोग से मांग की है कि उसके प्रचार आयोजनों को अनुमति मांगने के छह घंटे के भीतर अनुमति देने का निर्देश दिया जाये। साथ ही आयेाग से आग्रह किया गया है कि बिहार में फ्री व फेयर चुनाव के लिए इस संबंध में सभी आवश्यक कदम उठाये जायें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.