चिराग पासवान का बड़ा ऐलान- जहां हमारा प्रत्याशी न हो, वहां बीजेपी को वोट दें

0
102

बिहार चुनाव में राजनीति का एक अलग ही रंग देखने को मिल रहा है. एक तरफ बीजेपी स्पष्ट कर रही है कि नंबर जो भी हो मुख्यमंत्री चेहरा नीतीश कुमार ही होंगे. वहीं केंद्र में एनडीए की सहयोगी लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) के अध्यक्ष चिराग पासवान लागातार नीतीश कुमार पर निशाना साध रहे हैं. इतना ही नहीं वो प्रदेश में जेडीयू के खिलाफ प्रत्याशी भी उतार रहे हैं. इनमें से कई प्रत्याशी ऐसे हैं जो बीजेपी के नेता रहे हैं. चिराग पासवान ने अपने ट्विटर हैंडल से नीतीश कुमार के विरोध में एक और ट्वीट किया है. 

पासवान ने अपने समर्थकों से अपील करते हुए कहा है कि आप सभी से अनुरोध है की जहां भी एलजेपी के प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे है उन सभी स्थानो पर बिहार फर्स्ट, बिहारी फर्स्ट को लागू करने के लिए एलजेपी के प्रत्याशियों को वोट दें, जबकि अन्य स्थानो पर भारतीय जनता पार्टी के साथियों को दें. आने वाली सरकार नीतीशमुक्त सरकार बनेगी. असम्भ वनीतीश. 

चिराग पासवान, सीएम नीतीश कुमार पर लगातार हमला कर रहे हैं. इससे पहले उन्होंने नीतीश कुमार के सबसे चर्चित फैसले शराबबंदी को लेकर आलोचना की थी. अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा है, ‘शराबबंदी के नाम पर बिहारियों को तस्कर बनाया जा रहा है. बिहार की माताएं-बहने अपनों को तस्कर बनते नहीं देखना चाहती. बिहार के मुख्यमंत्री के संग सभी मंत्रियों को पता है कि बिहारी रोजगार के अभाव में शराब तस्करी की तरफ बढ़ रहा है लेकिन सब के सब को मानो सांप सूंघ लिया है. असम्भव नीतीश.’

सवाल यह उठता है कि बीजेपी जब नीतीश का समर्थन कर रही है तो चिराग किसकी शह पर उनका विरोध कर रहे हैं. जबकि बीजेपी भी एलजेपी के खिलाफ बयानबाजी कर रही है. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बयान जारी करते हुए कहा था कि एलजेपी बिहार के चुनाव में कोई प्रभाव नहीं डाल पाएगी. एलजेपी बिहार के चुनावों में सिर्फ एक वोटकटवा पार्टी बनकर रह जाएगी. प्रकाश जावड़ेकर ने स्पष्ट किया है कि बिहार में केवल चार पार्टियां (बीजेपी, जेडीयू, हम और वीआईपी) ही साथ मिलकर चुनाव लड़ रही हैं.  

वहीं बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने शनिवार को आजतक से खास बातचीत में कहा कि लोक जनशक्ति पार्टी से इस चुनाव में कोई संबंध नहीं है. बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि राजनीति में हर एक पार्टी की अपनी आकांक्षाएं होती हैं. चिराग पासवान ज्यादा सीटें मांग रहे थे. हम चाहते थे कि वो हमारे साथ रहें, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया. बीजेपी और LJP में कोई गुप्त समझौता नहीं है. हमारा कोई भी संबंध LJP से नहीं है. बीजेपी ईमानदारी से काम करती है. बीजेपी पूरी तरह से नीतीश कुमार के साथ है.

बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि हम जो कहते हैं, उसे निभाते हैं. हर स्थिति में नीतीश कुमार ही हमारे नेता रहेंगे और बीजेपी उनके साथ खड़ी रहेगी. बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि दुनिया और देश में पीएम नरेंद्र मोदी की विश्वसनीयता कायम है. उसी तरह से बिहार में सबसे ज्यादा विश्वसनीय नेता नीतीश कुमार हैं.

वहीं एलजेपी भले ही बिहार विधानसभा चुनाव में अकेले अपने दम पर चुनावी मैदान में है. लेकिन चिराग पासवान की सभाओं में उनके कार्यकर्ता बीजेपी का झंडा लहरा रहे हैं. यही नहीं पीएम मोदी जिंदाबाद के नारे लगाए जा रहे हैं. वह भी एलजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान के सामने. इससे चिराग को भी कोई आपत्ति नहीं हो रही है. 

दिनारा और ओबरा में दिखा झंझा

दिनारा में चिराग की चुनावी सभा के दौरान पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान मंच पर मौजूद थे. सभा में शामिल उनके कार्यकर्ता बीजेपी के झंडा लहरा रहे थे और मोदी जिंदाबाद के नारे लगा रहे थे. यहां से बीजेपी के कद्दावर नेता रहे राजेंद्र सिंह एलजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं. ओबरा में भी चुनावी सभा के दौरान चिराग की सभा में बीजेपी का झंडा लहराया गया. यहां से प्रत्याशी प्रकाश चंद्रा उम्मीदवार है. इसका खुद चिराग पासवान ने वीडियो भी शेयर किया है. 

जेडीयू पर बोला हमला

चुनावी सभा को संबोधित करते हुए दोनों जगहों पर चिराग पासवान ने बीजेपी का नाम नहीं लिया. लेकिन बीजेपी की सहयोगी जेडीयू पर जमकर निशाना साधा. चिराग ने कहा कि साफ संदेश है हम किसी की बी टीम नहीं हैं और न ही हमें बनने की जरूरत है. एलजेपी की अपनी विचार धारा है. हम जदयू से ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ रहे हैं और उनसे ज्यादा सीटें जीतेंगे. बता दें कि बिहार बीजेपी के नेता लगातार चिराग पर हमला बोल रहे हैं. यहां तक की पीएम मोदी का फोटो इस्तेमाल करने पर केस करने की धमकी दे चुके हैं. इसके बाद भी चिराग की सभा में बीजेपी का झंडा का इस्तेमाल किया जा रहा है. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.