बिहार चुनाव 2020: कांग्रेस ने की कोविड एक्ट के तहत सुशील मोदी के गिरफ्तारी की मांग

0
122

बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर नेताजी पर चुनावी जुनून कुछ इस तरह छाया है कि 10 दिन के होम आइसोलेशन को भी नजरअंदाज कर बीजेपी नेता और बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी एम्स से छुट्टी मिलने के दूसरे दिन हीं रोड शो में उतर गए. उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने गुरुवार को सीतामढ़ी में रोड शो किया.

कोविड पॉजिटिव के लिए डॉक्टर की गाइडलाइन

एम्स के डॉक्टरों की माने तो कोरोना संक्रमण के ठीक होने के बाद वायरस रहे या नहीं रहे मरीज को 7 से 10 दिन होम आइसोलेशन में रहना जरूरी होता है, क्योंकि 9 दिन के बाद ही वायरस इन इफेक्टिव रहता है, 10 दिन बाद हीं कम्युनिटी स्प्रेड के लिए खतरनाक नहीं होता है क्योंकि दसवें दिन से वायरस का रिप्लिकेशन बंद हो जाता है डॉक्टर की माने तो इसमें मरीज को 3 दिन तक लगातार बुखार नहीं आए, उसे 4 दिन तक ऑक्सीजन की जरूरत नहीं पड़े तो उसे रिकवर मानते हैं, बावजूद इसके उसे कम से कम 7 दिनों तक होम आईसोलेशन में रहने की सख्त जरुरत होती है.

कब हुए थे कोबिड पॉजिटिव

बिहार के उपमुख्यमंत्री ने 22 ऑक्टूबर को ट्वीट कर यह जानकारी साझा किया था कि वह कोरोना संक्रमित हो गए हैं इसके बाद इन्हें एम्स में भर्ती कराया गया और 27 अक्टूबर को इन्हें एम्स से छुट्टी मिली. डॉक्टरों ने ए सिंप्टोमेटिक होने पर 27 अक्टूबर को इन्हे डिस्टार्ज कर घर में आराम करने की सलाह दी. एम्स के डॉक्टरों का कहना है कि आईसीएमआर की गाइडलाइन के तहत उन्हें छुट्टी दी गई थी भर्ती होने के पहले ही वह कोरोना संक्रमित हुए थे.

कांग्रेस हुई हमलावर कहा सुशील मोदी की हो गिरफ्तारी

बिहार विधान सभा चुनाव का जूनून सुशील मोदी पर ऐसा हावी हुआ कि कोविड संक्रमण के ठीक होने के चंद दिनों बाद में चुनावी मैदान में उतर आए. सुशील मोदी के रोड शो पर हमलावर होते हुए कांग्रेस के प्रवक्ता राजेश राठौर ने कहा कि कि हम चुनाव आयोग से दरखास्त करेंगे कि कोविड-19 एक्ट के तहत सुशील मोदी को गिरफ्तार किया जाए, क्योंकि ऐसी असंयमित व्यवहार से ये लोगों में जाने अनजाने कोरोना फैला रहे हैं साथ हीं यह भी कहा कि उनके रोड शो और रैली में जितने लोग शामिल हुए हैं उन सब का कोविड टेस्ट कराया जाए. सुशील मोदी को आडे हाथों लेते हुए राठौर ने कहा कि हार से घबराकर सुशील मोदी ने सोचा कि क्यों न लोगों में कोबिड फैला दिया जाए और इसी सोच के तहत उन्होंने ऐसी हरकत की है अपनी कुर्सी बचाने की चाहत में दूसरों की जान से खिलवाड़ करने वाले पर सख्त से सख्त कार्रवाई होनी चाहिए.

सुशील मोदी पर आरजेडी का बयान

डिप्टी सीएम सुशील मोदी के कोविड संक्रमण से उबरने के बाद होम आइसोलेशन की जगह रोड शो करने पर आरजेडी के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि सुशील मोदी को अगर अपनी जान की परवाह नहीं है तो कम से कम जनता की परवाह करें. सत्ता के लोभ में जनता की जान से खिलवाड़ ना करें और जो एहतियात है उसे बरतें ताकि उनके चलते किसी और की जान सांसत में ना पड़े.
पिछले कुछ दिनों में बीजेपी के कई नेता कोलिड संक्रमित हुए हैं, इसी कडी में सुशील मोदी भी इस संक्रमण के शिकार हुए थे, वापस चुनावी अखाडे में सुशील मोदी की एंट्री ने विपक्ष को बैठे बिठाए विवाद का एक मुद्दा दे दिया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.