बिहार में वोटिंग खत्म:आखिरी फेज में 78 सीटों पर वोटिंग हुई, 6 बजे तक 57.91% लोगों ने वोट डाले

0
74

बिहार में शनिवार को तीसरे और आखिरी फेज की 78 सीटों पर वोटिंग खत्म हो चुकी है। 6 बजे तक 57.91% लोगों ने वोट डाले। तीसरे फेज में 1,204 उम्मीदवार मैदान में थे। इनमें 1,094 पुरुष और 110 महिलाएं शामिल थीं। इन 78 सीटों पर 2.35 करोड़ वोटर थे। कोरोना के चलते वोटिंग का समय एक घंटा बढ़ाया गया। 74 सीटों पर वोटिंग सुबह 7 से शाम 6 बजे तक हुई। पहले फेज में 55.68% और दूसरे फेज में 55.70% वोटिंग हुई थी। नतीजे 10 नवंबर को आएंगे।

तीसरे दौर की वोटिंग के बीच, पूर्णिया में CISF जवानों ने लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग के लिए कहा तो लोगों ने उन्हें घेरकर पीटा। बचाव में जवानों ने 5 राउंड हवाई फायरिंग करनी पड़ी। बाद में 4 लोगों को गिरफ्तार किया गया। वहीं, सुपौल और मुजफ्फरपुर में मतदानकर्मी की मौत हो गई। बड़े चेहरों में शरद यादव की बेटी और बिहारीगंज से कांग्रेस प्रत्याशी सुभाषिनी और प्लूरल्स पार्टी की प्रमुख पुष्पम प्रिया चौधरी ने वोट डाला।

समयवोटिंग %
9 बजे7.69
11 बजे19.74
1 बजे34.82
3 बजे45.48
5 बजे55.22
6 बजे57.91
  • पूर्णिया में वोट डालने जा रहे युवक को मतदान केंद्र से 200 मीटर पहले गोली मार दी गई। बेनी सिंह नाम के इस युवक की मौके पर ही मौत हो गई। घटना धमदाहा विधानसभा के सिहुली गांव की है। लोगों की मानें तो बेनी की हत्या आपसी रंजिश में की गई। बेनी के भाई बिट्टू सिंह को हाल ही में एके-47 व अन्य हथियारों के साथ गिरफ्तार किया गया था।
  • सुपौल के 126 और 128 नंबर बूथ पर EVM खराब हो गई। वहीं, सीतामढ़ी के 271 नंबर बूथ पर भी EVM खराब होने की खबर आई। औराई विधानसभा की बूथ संख्या 63A पर EVM खराब होने के कारण सुबह 9 बजे तक वोटिंग शुरू नहीं हो पाई।
  • शरद यादव की बेटी और बिहारीगंज से कांग्रेस उम्मीदवार सुभाषिनी यादव ने मधेपुरा में वोट डाला। बांकीपुर और बिस्फी से चुनाव लड़ रहीं प्यूरल्स पार्टी की चीफ पुष्पम प्रिया चौधरी ने दरभंगा में वोट डाला।
  • सुपौल जिले की निर्मली विधानसभा के 246 नंबर बूथ पर सदानंद राय नाम के मतदान कर्मी की मौत हो गई। मुजफ्फरपुर के औराई विधानसभा के बूथ-190 पर पोलिंग ऑफिसर केदार राय की हार्टअटैक से मौत हो गई। केदार सिंचाई विभाग में थे। डीएम ने 15 लाख रुपए मुआवजा देने की घोषणा की है।
  • सुपौल जिले के त्रिवेणीगंज विधानसभा क्षेत्र के सिमरिया पंचायत में लोगों ने वोट बहिष्कार किया है। सड़क नहीं बनने की वजह से जनता में नाराजगी है। सुबह के 11:30 तक यहां एक भी वोट नहीं पड़ा है। इस इलाके में कुल 8 बूथ हैं। लोगों का कहना है कि एक भी बूथ पर वोट नहीं पड़ा है। करीब दस हजार की आबादी वोट का बहिष्कार कर रही है। लोगों का कहना है कि 30 साल से सड़क नहीं बनी। अभी यहां की विधायक जदयू की बीमा भारती हैं। पिछली बार जब बीमा वोट मांगने आई थीं, तब उन्होंने कहा था सड़क बनवा दी जाएगी। न बने तो अगली बार मुझे वोट मत दीजिएगा। उनके कहे अनुसार ही हम लोगों ने इस बार वोटिंग का बहिष्कार किया।
  • दरभंगा के सिरनिया गांव में लोगों ने बिहार विधानसभा चुनाव में मतदान के लिए एक अस्थायी पुल का निर्माण किया गया, ताकि ज्यादा लोग मतदान करने जा सकें।

किस जिले में कितनी वोटिंग?

जिलावोटिंग %
पश्चिमी चंपारण56.02
पूर्वी चंपारण57.16
सीतामढ़ी55.84
मधुबनी56.36
सुपौल61.19
अररिया54.58
किशनगंज62.55
पूर्णिया59.25
कटिहार61.57
मधेपुरा59.00
सहरसा60.20
दरभंगा54.91
मुजफ्फरपुर57.57
वैशाली52.68
समस्तीपुर58.15

तीसरे फेज की 5 बड़ी बातें

  1. सबसे ज्यादा 31 उम्मीदवार गायघाट सीट पर थे। सबसे कम 9 उम्मीदवार ढाका, त्रिवेणीगंज, जोकिहाट और बहादुरगंज में थे।
  2. सबसे ज्यादा 44 सीटों पर राजद और 35 पर लोजपा ने चुनाव लड़ा। भाजपा और जदयू 29-29, कांग्रेस ने 21 सीटों पर कैंडिडेट उतारे।
  3. 33 हजार 782 पोलिंग स्टेशन बनाए गए। 45 हजार 953 बैलट यूनिट और 33 हजार 782 VVPAT का इस्तेमाल हुआ।
  4. वोटर के लिहाज से सबसे बड़ी विधानसभा सहरसा थी। यहां 3.70 लाख वोटर थे, जिनमें से 1.92 लाख पुरुष, 1.77 लाख महिला और 2 ट्रांसजेंडर वोटर थे।
  5. वोटर के लिहाज से सबसे छोटी विधानसभा हायाघाट थी। यहां 2.41 लाख वोटर थे, जिनमें से 1.27 लाख पुरुष, 1.14 लाख महिला और 4 ट्रांसजेंडर वोटर थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.