मुंबई 5वीं बार IPL चैम्पियन: पहली बार फाइनल में पहुंची दिल्ली को 5 विकेट से हराया

0
39

मुंबई इंडियंस ने 5वीं बार IPL का खिताब जीत लिया है। वह सबसे ज्यादा बार टूर्नामेंट जीतने वाली टीम है। मुंबई ने पहली बार फाइनल पहुंची दिल्ली कैपिटल्स को 5 विकेट से हराया। रोहित शर्मा ने खिताबी मुकाबले ने IPL में अपनी 39वीं फिफ्टी लगाई। मुंबई का ये छठवां फाइनल रहा। 6 खिताबी मुकाबलों में 2 बार मुंबई ने लक्ष्य का पीछा किया। 2010 में चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ वह टारगेट चेज नहीं कर पाई थी।

दुबई के मैदान पर दिल्ली ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग करते हुए 157 रन का टारगेट दिया था। इसके जवाब में मुंबई ने 18.4 ओवर में 5 विकेट गंवाकर 157 रन बनाते हुए मैच जीत लिया। टीम के लिए रोहित शर्मा ने सबसे ज्यादा 51 बॉल में 68 और ईशान किशन ने 19 बॉल में 33 रन बनाए।

पहली बार कोई टीम फाइनल में 160 से कम रन बनाकर हारी
IPL के इतिहास में पहली बार कोई टीम फाइनल में 160 से कम स्कोर बनाकर हारी है। इससे पहले 4 बार पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम ने 160 से कम स्कोर बनाया और हर बार टीम चैम्पियन बनी। 5 बार 160 से 199 रन के बीच का स्कोर बना, जिसमें 4 बार टारगेट चेज करने वाली टीम जीती। एकमात्र मैच हारने वाली टीम मुंबई इंडियंस ही है, जिसे 2010 में चेन्नई सुपर किंग्स ने 169 रन का टारगेट देकर हराया था। 3 बार पहली पारी में 200 से ज्यादा का स्कोर बना और तीनों बार कोई टीम इसे चेज नहीं कर पाई।

रोहित-डिकॉक ने तेज शुरुआत दी
मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा और क्विंटन डिकॉक ने तेज शुरुआत दी। दोनों ने 45 रन की ओपनिंग पार्टनरशिप की। यहां डिकॉक 20 रन बनाकर स्टोइनिस की बॉल पर विकेटकीपर ऋषभ पंत के हाथों कैच आउट हो गए। इसके बाद 90 रन टीम ने दूसरा विकेट गंवाया। सूर्यकुमार (19) रनआउट हो गए। इसके बाद रोहित ने ईशान के साथ तीसरे विकेट के लिए 47 रन की पार्टनरशिप की।

दूसरी बार फाइनल में दोनों टीमों के कप्तान ने लगाई फिफ्टी

यह दूसरी बार है जब फाइनल में दोनों टीमों के कप्तानों ने फिफ्टी लगाई। इससे पहले 2016 के फाइनल में हैदराबाद के कप्तान डेविड वॉर्नर ने 69 रन और बेंगलुरु के कप्तान विराट कोहली ने 54 रन बनाए थे।

दिल्ली के लिए अय्यर और पंत ने फिफ्टी लगाई

दिल्ली ने 7 विकेट पर 156 रन बनाए। कप्तान श्रेयस अय्यर ने सबसे ज्यादा नाबाद 65 और ऋषभ पंत ने 56 रन की पारी खेली। IPL में यह अय्यर की 16वीं और पंत की 12वीं फिफ्टी रही। सीजन में अय्यर का तीसरी और पंत का पहला अर्धशतक रहा। दोनों ने चौथे विकेट के लिए 69 बॉल पर 96 रन की पार्टनरशिप की। मुंबई के लिए ट्रेंट बोल्ट ने सबसे ज्यादा 3 विकेट लिए।

बतौर कप्तान फाइनल में दूसरा बेस्ट स्कोर अय्यर के नाम
दिल्ली के कप्तान अय्यर फाइनल में 65 रन बनाकर नाबाद रहे। IPL फाइनल में किसी कप्तान द्वारा बनाया गया यह दूसरा बेस्ट स्कोर है। इससे पहले यह रिकॉर्ड सनराइजर्स हैदराबाद के कप्तान डेविड वॉर्नर के नाम था। उन्होंने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के खिलाफ 2016 के फाइनल में 69 रन बनाए थे।

दिल्ली ने 22 रन पर 3 विकेट गंवाए
दिल्ली की शुरुआत बेहद खराब रही थी। टीम ने 22 रन पर 3 विकेट गंवा दिए। ट्रेंट बोल्ट ने दिल्ली को 2 शुरुआती झटके दिए। उन्होंने मार्कस स्टोइनिस को बिना खाता खोले और अजिंक्य रहाणे को 2 रन पर विकेटकीपर क्विंटन डिकॉक के हाथों कैच आउट कराया। दिल्ली के ओपनर स्टोइनिस पहली बॉल पर आउट हुए। IPL इतिहास में पहला बार हुआ है, जब कोई खिलाड़ी मैच की पहली बॉल पर आउट हुआ।

जयंत ने धवन को बोल्ड किया
इसके बाद सीजन का दूसरा मैच खेल रहे जयंत यादव ने दिल्ली को संभलने का मौका नहीं दिया। दिल्ली 22 रन ही बना सकी थी कि जयंत ने सीजन के सबसे इन-फॉर्म प्लेयर शिखर धवन (15) को क्लीन बोल्ड किया। बोल्ट के अलावा नाथन कुल्टर-नाइल ने 2 और जयंत यादव ने 1 विकेट लिया। नाथन ने ऋषभ पंत और अक्षर पटेल को पवेलियन भेजा।

बोल्ट पावर-प्ले में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज
एक सीजन में पावर-प्ले के दौरान सबसे ज्यादा विकेट लेने के मामले में ट्रेंट बोल्ट ने मिशेल जॉनसन के रिकॉर्ड की बराबरी की। दोनों ने पावर-प्ले में 16-16 विकेट लिए हैं। बोल्ट ने 36 ओवर किए, जिसमें 13.5 की स्ट्राइक रेट और 6.72 की इकोनॉमी से 16 बल्लेबाजों को आउट किया। जॉनसन ने 2013 सीजन में यह उपलब्धि हासिल की थी।

IPL में 200 मैच खेलने वाले दूसरे प्लेयर बने रोहित

रोहित शर्मा IPL में 200 मैच खेलने वाले दूसरे खिलाड़ी बने। इससे पहले चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी IPL में 200 मैच खेल चुके। रोहित लीग में मुंबई इंडियंस के अलावा डेक्कन चार्जर्स से भी खेल चुके हैं। मुंबई के लिए रोहित का यह 155वां मैच है।

दोनों टीमों के विदेशी खिलाड़ी
मुंबई की प्लेइंग इलेवन में क्विंटन डिकॉक, कीरोन पोलार्ड, नाथन कूल्टर-नाइल और ट्रेंट बोल्ट विदेशी खिलाड़ी हैं। वहीं, दिल्ली में मार्कस स्टोइनिस, शिमरॉन हेटमायर, कगिसो रबाडा और एनरिच नोर्तजे विदेशी खिलाडी हैं।

दोनों टीमें
मुंबई: रोहित शर्मा (कप्तान), क्विंटन डिकॉक (विकेटकीपर), सूर्यकुमार यादव, ईशान किशन, हार्दिक पंड्या, कीरोन पोलार्ड, क्रुणाल पंड्या, नाथन कूल्टर-नाइल, ट्रेंट बोल्ट, जयंत यादव और जसप्रीत बुमराह।
दिल्ली: शिखर धवन, मार्कस स्टोइनिस, अजिंक्य रहाणे, श्रेयस अय्यर (कप्तान), ऋषभ पंत (विकेटकीपर), शिमरॉन हेटमायर, प्रवीण दुबे, अक्षर पटेल, रविचंद्रन अश्विन, कगिसो रबाडा और एनरिच नोर्तजे।

दिल्ली के पास अपना पहला खिताब जीतने का मौका

रोहित शर्मा की कप्तानी में मुंबई के पास रिकॉर्ड 5वीं बार खिताब जीतने का मौका है। वहीं, श्रेयस अय्यर की कप्तानी में दिल्ली की नजर अपने पहले खिताब पर है। मुंबई का यह छठवां फाइनल है। टीम 4 बार (2013, 2015, 2017, 2019) खिताब जीत चुकी है। मुंबई अपना खिताब बरकरार रखना चाहेगी।

धवन IPL में लगातार 2 शतक लगाने वाले अकेले प्लेयर
श्रेयस अय्यर की कप्तानी में दिल्ली की नजर अपने पहले खिताब पर है। टीम में बल्लेबाजी की जिम्मेदारी शिखर धवन और अय्यर के कंधों पर है। धवन सीजन में 500+ रन बनाने वाले तीन बल्लेबाजों में शामिल हैं। धवन ने चेन्नई और पंजाब के खिलाफ लगातार दो (101, 106) नाबाद शतक लगाए थे। दोनों दिग्गजों को मुंबई की तेज तर्रार गेंदबाजी से सतर्क रहना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.