मेवालाल के इस्तीफे पर तेजस्वी के लिए बोल पड़े तेज प्रताप- जियो मेरे खिलाड़ी

0
35

डॉ. मेवालाल चौधरी ने पदभार ग्रहण करने के महज दो घंटे बाद ही शिक्षा मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से एक अणे मार्ग स्थित मुख्यमंत्री आवास में मिलने के बाद त्याग पत्र दिया और सीएम की अनुशंसा पर राज्यपाल फागू चौहान ने उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया. बता दें कि उन पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं और लगातार नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव इस मुद्दे को उठा रहे थे. अब इस आरजेडी नेता तेज प्रताप यादव का भी रिएक्शन सामने आया है.

राजद विधायक और तेजस्वी यादव के बड़े भाई तेज प्रताप यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘जियो मेरे खिलाड़ी, पहली बॉल में ही मज़बूत विकेट को “Back to pavilion” कर दिया.’

बिहार में नई सरकार बनते ही सबसे अधिक सुर्खियों में रहे डॉ. मेवालाल चौधरी ने गुरुवार को शिक्षा मंत्री का पदभार ग्रहण करने के दो घंटे बाद ही इस्तीफा दे दिया था. उनके इस त्यागपत्र को जहां विपक्ष ने अपनी जीत बताया, वहीं सत्ता पक्ष की ओर से इसे राजनीतिक शुचिता का उदाहरण बताया गया. यह सवाल बरकरार है कि सीएम नीतीश कुमार के करीबी रहने के बावजूद उन्होंने इस्तीफा क्यों दिया? इसी मुद्दे को लेकर डॉ. मेवालाल से बात की तो उन्होंने साफ किया कि उन्होंने सीएम नीतीश की छवि को बचाने के लिए ऐसा किया.

शिक्षा मंत्री का पदभार ग्रहण करते ही इस्तीफा देने वाले डॉ. मेवालाल चौधरी ने कहा कि नीतीश कुमार के सच्चे सिपाही होने के नाते उनकी छवि पर किसी तरह का आंच न लगे. इसलिए मैंने खुद इस्तीफे की पेशकश की. मेवलाल ने कहा कि वो जब तक पाक-साफ साबित नहीं हो जाते इस पद पर नहीं रहेंगे.

बता दें कि बिहार कृषि विश्वविद्यालय (बीएयू) के कुलपति रहते समय मेवालाल चौधरी पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे और उन पर एफआईआर भी दर्ज हुई थी. इसके बाद जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) से उन्हें निलंबित कर दिया गया था. यही वजह है कि विपक्ष लगातार नीतीश सरकार को टारगेट कर रही थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.