मेवालाल के बाद नीतीश के एक और मंत्री आए तेजस्वी के निशाने पर, कहा- बीवी का भ्रष्टाचार Not a big deal

0
27

डॉ. मेवालाल चौधरी के बाद अब प्रदेश में JDU के कार्यकारी अध्यक्ष और मंत्री अशोक चौधरी की चर्चा है. बिहार में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने अपने ट्विटर हैंडल से अशोक चौधरी पर हमला बोला है. उन्होंने एक ट्वीट पर रिएक्शन देते हुए लिखा है, ‘साहित्यिक चोरी के दोषी मुख्यमंत्री माननीय नीतीश जी के मुकुट मणि, JDU के कार्यकारी अध्यक्ष और मंत्री श्री अशोक चौधरी की पत्नी पर बैंक से करोड़ों की धोखाधड़ी और जालसाजी का आरोप है, CBI जांच कर रही है, कोर्ट में केस है. इनकी निष्कपटता देखिए, कहते हैं बीवी का भ्रष्टाचार नॉट ए बिग डील.’

दरअसल ‘बिहार तक’ से बातचीत के दौरान भवन निर्माण और समाज कल्याण विभाग के मंत्री अशोक चौधरी ने नीतीश कुमार पर लगे आरोप को लेकर कहा था कि सिर्फ आरोप लगाने से कुछ नहीं होता है. जब तक चार्जशीटेड नहीं होता है उसका कोई मतलब नहीं है.

साहित्यिक चोरी के दोषी मुख्यमंत्री माननीय नीतीश जी के मुकुट मणि,JDU के कार्यकारी अध्यक्ष और मंत्री श्री अशोक चौधरी की पत्नी पर बैंक से करोड़ों की धोखाधड़ी और जालसाजी का आरोप है,CBI जाँच कर रही है, कोर्ट में केस है।

इनकी निष्कपटता देखिए। कहते है बीवी का भ्रष्टाचार Not a big deal

इसके बाद उनसे पूछा कि आपकी पत्नी पर बैंक से धोखाधड़ी का एक मामला है और वह चार्जशीटेड हैं. सीबीआई ने उन्हें चार्जशीट किया था. मामला अभी भी अंडर ट्रायल है. इसके जवाब में उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में हमलोग लड़ेंगे. इससे पहले हाई कोर्ट के फैसले पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने बिना हमलोगों को सुने ही फैसला दे दिया था इसलिए फिर से सुप्रीम कोर्ट में केस लड़ेंगे. व्हाट्स ए बिग डील अबॉट इट. हमारा पक्ष सुना नहीं गया है, जब तारीख आएगी तो हमलोग अपनी बात रखेंगे. हमारा केस हाई कोर्ट से खारिज है. तो आगे लड़ेंगे. व्हाट्स ए बिग डील.

तेजस्वी यादव नीतीश कुमार के नए कार्यकाल के शुरुआत से ही भ्रष्टाचार के मुद्दे को लेकर उनपर हमला कर रहे हैं. तेजस्वी यादव ने इससे पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोला था और दावा किया कि उनकी नई सरकार के 14 मंत्रियों में से आठ पर गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं.

राजद नेता ने यह खबर शेयर करते हुए ट्वीट किया, “नीतीश कुमार के 14 में से 8 मंत्रियों पर गंभीर आपराधिक मामले दर्ज है.. ख़बरदार अगर कोई नैतिकता, सुशासन और लोकलाज की बात करेगा.. बदलाव के जनादेश के विपरीत अनैतिक सरकार बनाते ही नीतीश जी ने रोजी-रोटी, नौकरी, समान काम-समान वेतन, कृषि ऋण माफ़ी, बिजली दर कम करना, पुरानी पेंशन लागू करना, संविदाकर्मियों की मांगों को पूर्ण करना और शिक्षा पर बजट का 22 फ़ीसदी खर्च करने जैसे सकारात्मक मुद्दों को छोड़ नकारात्मकता को गले लगा लिया है.”

तेजस्वी ने मेवालाल चौधरी को लेकर भी कई ट्वीट किए थे और नीतीश सरकार पर भ्रष्टाचारियों को संरक्षण देने का आरोप लगाया था. बाद में शिक्षा मंत्री मेवालाल चौधरी को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.