बिहार विधानसभा स्पीकर चुनाव: महागठबंधन ने RJD के अवध बिहारी चौधरी को मैदान में उतारा

0
123

विधानसभा सत्र को स्थगित कर दिया गया है। बुधवार की सुबह 11 बजे से सत्र की शुरुआत होगी। इससे पहले 51 नवनिर्वाचित विधायकों को शपथ दिलाई गई। विधानसभा अध्यक्ष पद को लेकर महागठबंधन और एनडीए आमने-सामने हैं। महागठबंधन की ओर से अवध बिहारी चौधरी का नामांकन कराया गया है, तो एनडीए की ओर से भाजपा विधायक विजय कुमार सिन्हा ने नॉमिनेशन किया है। वहीं, AIMIM का कहना है कि विधानसभा अध्यक्ष के लिए वह भी अपना उम्मीदवार उतार सकता है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अख्तरुल ईमान ने यह बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि हम तीसरा मोर्चा हैं। साथ ही यह भी बताया कि सत्ता पक्ष को अध्यक्ष का पद देना चाहिए और विपक्ष को उपाध्यक्ष।

बुधवार को होगी वोटिंग, तेजस्वी स्पीकर से मिलकर निकले
तेजस्वी यादव ने प्रोटेम स्पीकर जीतन राम मांझी से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने जेल में बंद राजद विधायकों की वोटिंग कराने के लिए व्यवस्था को लेकर बातचीत की। राजद विधायक अनंत सिंह और अमरजीत कुशवाहा जेल में बंद हैं। उनको अभी शपथ भी नहीं दिलाई गई है।

लंबे अरसे से नहीं हुआ है स्पीकर का चुनाव

बिहार विधानसभा में लंबे अरसे से स्पीकर का चुनाव नहीं हुआ है। डिप्टी स्पीकर रखने का प्रावधान है, लेकिन स्पीकर का चुनाव नहीं हुआ है। 51 साल बाद बुधवार को फिर से अध्यक्ष पद के लिए वोटिंग होगी।

कल होगी वोटिंग

सत्तारूढ़ दल के पास खुद के 125 वोट हैं, एलजेपी निर्दलीय और बीएसपी मिलाकर 128 होते हैं। वहीं विपक्ष के पास 110 वोट हैं, ओवैसी की पार्टी को मिलाकर 115 होते हैं। पक्ष और विपक्ष बुधवार को होने वाले चुनाव को लेकर सियासी गणित साधने में जुट गई है। विधानसभा अध्यक्ष के लिए बुधवार की सुबह 11:00 बजे से लेकर शाम 4:00 बजे तक वोटिंग होगी। शाम 5:00 बजे से होगी वोटों की गिनती होगी।

किनके बीच सियासी लड़ाई

महागठबंधन की ओर से राजद के विधायक अवध बिहारी चौधरी ने नॉमिनेशन किया है। महागठबंधन की बैठक में फैसला उनके नाम पर मुहर लगी। अवध बिहारी चौधरी लालू प्रसाद के खास माने जाते हैं। सिवान सदर से विधायक अवध बिहारी की गिनती राजद के वरिष्ठ नेताओं में होती है। उधर, विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए एनडीए की ओर से भाजपा के विजय सिन्हा ने नॉमिनेशन किया। उन्होंने कहा कि पार्टी और गठबंधन का जो निर्देश होगा उसके अनुसार काम करेंगे।

क्या बोले तेजस्वी
इस मौके पर तेजस्वी यादव ने कहा कि हमने अवध बिहारी चौधरी को स्पीकर पद उम्मीदवार बनाया है, इस पद को हम लोग जीतेंगे ये पक्का विश्वास है। हम पक्ष-विपक्ष से उम्मीद करेंगे कि ऐसे निष्पक्ष चेहरे को जिताएं। अवध जी का संसदीय कार्यकाल बेहतर रहा है। सभी लोगों से अपील करता हूं कि अवध बिहारी चौधरी को विधानसभा का अध्यक्ष बनाएं। वहीं, आरजेडी विधायक भाई बिरेंद्र ने कहा कि अवध बिहारी चौधरी हमारे स्पीकर पद के उम्मीदवार हैं, स्पीकर पद हम जीत जाएंगे, हमारे पास संख्या बल है , हमारी रणनीति बुधवार को सामने आएगी।

कौन हैं अवध बिहारी चौधरी

  • अवध बिहारी चौधरी पहली बार 1985 में विधायक चुने गए थे।
  • इसके बाद अब तक वे छह बार विधान सभा चुनाव जीत चुके हैं।
  • अवध बिहारी चौधरी बिहार सरकार में कैबिनेट मंत्री भी रह चुके हैं।
  • विधान सभा चुनाव में भाजपा के उम्मीदवार ओम प्रकाश यादव को हराया है।
  • ओम प्रकाश यादव उनके नजदीकी रिश्तेदार भी हैं।

तेजस्वी यादव ने नवरुणा के मामले को भी उठाया। उन्होंने कहा कि दोषी कौन है अभी तक सामने क्यों नही आया , मामले को दबाया जा रहा है। ट्रेड यूनियन की ओर से 26 नवंबर के स्ट्राइक को तेजस्वी यादव ने समर्थन दिया है। उधर, लेफ्ट पार्टी के विधायकों ने सदन के बाहर जमकर हंगामा किया। उन्होंने प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय से इस्तीफे की मांग की। सदन के बाहर लेफ्ट पार्टी के विधायकों ने पोस्टर लहराया। पोस्टर में लिखा हुआ था कि नकारा स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय को बर्खास्त करो।

भाजपा के विजय सिन्हा ने किया नॉमिनेशन

एनडीए की ओर से विधानसभा अध्यक्ष के लिए विजय कुमार सिन्हा ने नामांकन किया है। इससे पहले उन्होंने कहा कि पार्टी की ओर से जो निर्देश दिया गया है, उसका पालन करेंगे।उन्होंने यह भी कहा कि विपक्ष भी सरकार की अंग है। पूरा सदन बिहार की गरिमा बढ़ाने के लिए और विकास की गति के लिए काम करेगी। मिल जुलकर काम करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.