लालू ने जेल से ही भाजपा विधायक ललन पासवान को फोन किया, 3 बार बोले- स्पीकर के चुनाव से एबसेंट हो जाओ, वाइरल हुआ औडियो

0
544

बिहार विधानसभा में स्पीकर पद को लेकर आज वोटिंग होनी है। इससे पहले राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव का एक ऑडियो वायरल हो रहा है। इसमें लालू, पिरपैती से भाजपा विधायक ललन पासवान से मोबाइल पर बात कर रहे हैं। लालू कह रहे हैं कि विधानसभा में स्पीकर के चुनाव की वोटिंग से एबसेंट हो जाओ। लालू ने यह बात 3 बार कही। साथ ही कहा कि तुम्हें आगे बढ़ाएंगे।

पूरी बातचीत पढ़िए… सबसे पहले लालू का सहायक- हैलो, प्रणाम सर, विधायक जी बोल रहे हैं… नहीं, उनका पीए बोल रहा हूं लालू का सहायक- दीजिए तो, साहब बात करेंगे माननीय लालू प्रसाद यादव… विधायक का पीए- हैलो, कहां से सर… लालू का सहायक- रांची से..साहब बात करेंगे.. लालू- हां, पासवान जी, बधाई.. पासवान- प्रणाम, चरण स्पर्श… लालू- हां, सुनो, हम तुमको आगे भी बढ़ाएंगे वहां…कल (25 नवंबर) जो स्पीकर का चुनाव है…हम तुमको मंत्री बनाएंगे…कल इनको (जदयू-भाजपा सरकार) गिरा देंगे… पासवान- हम तो पार्टी में हैं न सर… लालू- पार्टी में हो तो एबसेंट हो जाओ…कोरोना हो गया था, स्पीकर (यहां बात साफ सुनाई नहीं दी)…फिर हम लोग देख लेंगे न.. पासवान- पार्टी में हैं सर, थोड़ा सा…(हिचकिचाते हुए) ठीक है सर… लालू- एबसेंट हो जाओ तुम पासवान जी… पासवान- आपके संज्ञान में हो गए हैं हम सर…बात करेंगे..ठीक है.. लालू- ठीक है..एबसेंट हो जाओ

स्पीकर पद के लिए विधायकों की हॉर्स ट्रेडिंग के मद्देनजर जदयू ने बड़ा फैसला लिया है। पार्टी और सरकार की छवि बचाने के लिए संसदीय कार्य मंत्री विजय चौधरी ने जदयू के विधायकों के लिए व्हिप जारी किया है।

सुशील मोदी ने ट्वीट में दिया लालू का नंबर
सुशील मोदी ने ट्वीट कर कहा कि एक खास नंबर से NDA के विधायकों से संपर्क किया जा रहा है। यह नंबर लालू यादव का है और जब उन्होंने उस नंबर पर फोन किया तो लालू यादव ने सीधे उसे रिसीव किया। तब सुशील मोदी ने लालू से कहा कि आप यह गंदा खेल बंद कीजिए। आप कभी सफल नहीं होंगे।

सुशील मोदी ने अपने ट्वीट में जिस मोबाइल नंबर 8051216302 का जिक्र किया है, उसे जब ‘ट्रू कॉलर’पर जांचा गया तो यह नंबर ‘इरफान रांची लालू जी’ के नाम से सेव मिला। इरफान, लालू प्रसाद का पुराना करीबी रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.