निदेशक के बंगले से पेइंग वार्ड में शिफ्ट किये गये लालू यादव, फजीहत के बाद हेमंत सरकार ने उठाया कदम

0
103

बिहार में बनी सरकार को गिराने की साजिश रचने वाले लालू प्रसाद यादव के कथित फोन कॉल का ऑडियो वायरल होने के बाद फंसी हेमंत सोरेन सरकार ने कदम उठाया है. रिम्स के निदेशक के बंगले में रह रहे लालू प्रसाद यादव को अस्पताल के पेइंग वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है. आज अचानक रिम्स पहुंचे झारखंड सरकार के अधिकारियों ने लालू यादव को आनन फानन में शिफ्ट कर दिया.

फजीहत के बाद हेमंत सोरेन सरकार हरकत में

दरअसल लालू प्रसाद यादव का एक ऑडियो वायरल हुआ है. बीजेपी नेता सुशील मोदी ने इस ऑडियो का जारी किया है. सुशील मोदी के मुताबिक लालू प्रसाद यादव सजायाफ्ता होने के बावजूद फोन का उपयोग कर रहे हैं और फोन कॉल कर बिहार के एनडीए विधायकों को तोड़ने की साजिश रच रहे हैं. वायरल हुए ऑडियो में लालू प्रसाद यादव बीजेपी के विधायक ललन पासवान को ये कहते सुने जा रहे हैं कि वह विधानसभा अध्यक्ष पद के चुनाव में वोटिंग के दौरान सदन से गायब हो जायें. लालू प्रसाद यादव बीजेपी विधायक को मंत्री बनाने का प्रलोभन देते भी सुने जा रहे हैं. 

इस ऑडियो क्लीप के वायरल होने के बाद बड़ा सियासी तूफान मच गया था. निशाने पर न सिर्फ लालू प्रसाद यादव थे बल्कि झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार भी थी. बीजेपी और जेडीयू का आरोप था कि झारखंड सरकार में लालू प्रसाद यादव की पार्टी साझीदार है और इसलिए लालू को तमाम अवैध सुविधायें हासिल करा दी गयी हैं. उन्हें रिम्स के निदेशक के आलीशान बंगले में रखा गया है जहां वे जो चाहें कर सकते हैं. इस मामले में हेमंत सोरेन सरकार की भारी फजीहत हो रही थी. मामला हाईकोर्ट तक भी पहुंचाया गया है. 

आनन फानन में लालू को शिफ्ट किया गया

गुरूवार की दोपहर लगभग साढ़े तीन बजे रांची होटवार जेल के अधीक्षक हामिद अख्तर समेत सरकार के कई अधिकारी रिम्स निदेशक के केली बंगले में पहुंचे जहां लालू प्रसाद यादव को रखा गया था. उसके बाद वहां एंबुलेंस बुलायी गयी और लालू यादव को केली बंगले से रिम्स के पेइंग वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया. 

गौरतलब है कि लालू प्रसाद यादव चारा घोटाले के कई मामले में सजायाफ्ता हैं. इलाज के नाम पर उन्हें रांची के अस्पताल रिम्स में भर्ती किया गया है. सरकार ने कोरोना के मद्देनजर उन्हें रिम्स निदेशक के बंगले में रखा था. आज उन्हें वहां से शिफ्ट कर दिया गया.

लालू प्रसाद यादव को शिफ्ट करने के मामले में जेल अधीक्षक या दूसरे अधिकारी कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हुए. हालांकि झारखंड के जेल आईजी ने कहा है कि उन्होंने मामले की जांच के आदेश दिये हैं.  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.