पटना: राज्यपाल के अभिभाषण पर सदन में चर्चा के साथ ख़त्म हो जाएगा 17वीं विधानसभा का पहला सत्र

0
37

बिहार में चुनाव के बाद नवगठित 17वीं विधानसभा का पहला सत्र आज खत्म हो जाएगा। 17वीं विधानसभा के पहले सत्र की शुरुआत 23 नवंबर को हुई थी और आज यानी 27 नवंबर को यह सत्र खत्म हो जाएगा। विधानसभा में आज राज्यपाल के अभिभाषण के ऊपर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा होगी और उसके बाद सरकार का उत्तर सदन में आएगा। सुबह 11 बजे विधानसभा की कार्यवाही शुरू होगी साथ ही साथ विधान परिषद की कार्यवाही में भी आज राज्यपाल के अभिभाषण पर ही चर्चा होगी।

विधानसभा के पहले सत्र के दौरान विपक्ष के तेवर बेहद आक्रामक रहे हैं। अमूमन चुनाव के बाद विपक्ष पहले सत्र में आक्रामक नहीं होता लेकिन बिहार विधानसभा के अंदर मौजूदा अंकगणित विपक्ष के तेवर के लिए जिम्मेदार है। विपक्ष के पास मजबूत संख्या बल होने के कारण उसने विधानसभा सत्र के दौरान लगातार सत्तापक्ष को परेशान रखा। विधानसभा सत्र के पहले दिन से ही सदन के बाहर हंगामा देखने को मिला। 23 और 24 नवंबर को प्रोटेम स्पीकर जीतन राम मांझी ने नवनिर्वाचित सदस्यों को शपथ दिलवाई और 25 नवंबर को स्पीकर का चुनाव हुआ। स्पीकर का चुनाव भी सर्वसम्मति से नहीं हो पाया एनडीए के उम्मीदवार के मुकाबले महागठबंधन ने भी स्पीकर के लिए उम्मीदवार मैदान में उतारा हालांकि बीजेपी के विधानसभा अध्यक्ष चुने गए।

गुरुवार को संयुक्त सदन में राज्यपाल फागू चौहान का अभिभाषण हुआ। इस दौरान भी विपक्ष लगातार हंगामा करता रहा। राज्यपाल ने अपने अभिभाषण के दौरान इस बात पर भरोसा जताया है कि सरकार विकसित बिहार बनाने के लिए अग्रसर होगी फागू चौहान ने कहा कि बिहार में कोरोना काल के बीच चुनाव संपन्न हुए हैं और जनता ने जिस सरकार पर भरोसा जताया है वह बिहार को विकसित बनाने की तरफ तेजी के साथ आगे बढ़ेगी। राज्यपाल ने तकरीबन 14 मिनट तक संयुक्त सदन में अभिभाषण पढ़ा लेकिन इस दौरान विपक्ष हंगामा करता रहा। आज विधानसभा में अभिभाषण के ऊपर चर्चा होगी और उसके बाद संसदीय कार्य विभाग की तरफ से विधानसभा की लोक लेखा समिति, प्राक्कलन समिति, सरकारी उपक्रम संबंधी समिति के गठन के साथ-साथ प्रक्रियाओं को पूरा किया जाएगा विधानसभा की कार्यवाही खत्म होने के पहले स्पीकर विजय सिन्हा समापन भाषण करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.