कटिहार: जेडीयू सांसद ने वीआईपी पार्टी के प्रवक्ता को सरेआम थप्पड़ जड़ा

0
213

कटिहार सदर अस्पताल परिसर में आज उस वक्त अजीबोगरीब स्थिति उत्पन्न हो गयी जब जेडीयू सांसद दुलालचंद गोस्वामी ने सहयोगी पार्टी वीआईपी के प्रवक्ता को थप्पड़ जड़ दिया. सांसद इस बात से नाराज हुए थे कि वीआईपी पार्टी के नेता लगातार शिकायत किये जा रहे थे. हालांकि एमपी साहब थप्पड़ मारने की बात से इंकार कर रहे हैं. लेकिन वीआईपी पार्टी के प्रवक्ता कह रहे हैं कि उन्हें थप्पड़ मारा गया. सरेआम हुई इस घटना से वहां मौजूद लोग हैरान रह गये.

सदर अस्पताल में हुआ वाकया
कटिहार से जेडीयू के सांसद दुलालचंद गोस्वामी पल्स पोलियो अभियान की शुरूआत करने पहुंचे थे. वहां उनके समर्थकों के साथ साथ एनडीए के दूसरे घटक दलों के नेता भी मौजूद थे. उसी दौरान वीआईपी पार्टी के प्रवक्ता सह मीडिया प्रभारी मोनू निषाद ने अस्पताल में भ्रष्टाचार की शिकायत की. सांसद ने पहले तो शिकायत को अनसुना करने की कोशिश की. लेकिन मोनू निषाद बार-बार शिकायत करते रहे. इसी दौरान सांसद ने उन्हें थप्पड़ जड़ दिया.

वीआईपी के मीडिया प्रभारी मोनू निषाद ने मीडिया को बताया कि सदर अस्पताल के प्रसव वार्ड में उनकी मां से एएनएम द्वारा रिश्वत लिया गया है. वे इसकी ही शिकायत सांसद से कर रहे थे. लेकिन सांसद ध्यान देने को तैयार नहीं थे. जब उन्होंने जोर देकर ये हात कही तो सांसद ने गुस्से में उन्हें थप्पड़ रसीद कर दिया. मोनू निषाद ने कहा कि वे इस मामले की जानकारी अपनी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुकेश सहनी को देंगे.

उधर सांसद दुलालचंद गोस्वामी ने कहा कि वे सदर अस्पताल में पल्स पोलियो अभियान की शुरुआत करने पहुंचे थे. इस दौरान मोनू निषाद ने प्रसव वार्ड में उनकी मां से किसी एएनएम द्वारा रिश्वत लिए जाने की बात कही. इस पर उन्होंने एक आवेदन देने को कहा और इस मामले को कार्यक्रम के बाद देखने की बात कही.

सांसद ने कहा कि वे अस्पताल के कुछ वार्डों का निरीक्षण करने लगे. निरीक्षण के दौरान ही मोनू निषाद कई बार उनके सामने आ खड़े हुए और अपने मामले को देखने की बात कहने लगे. सांसद के मुताबिक मोनू निषाद के बार बार सामने आने से उन्हें परेशानी हो रही थी. इसके बाद उन्होंने मोनू को सामने से हटाने की नियत से सिर्फ कंधे पर हाथ रखा था. अब मोनू निषाद इसे बेवजह तूल देने की कोशिश कर रहे हैं.

थप्पड़बाजी की इस घटना के बाद सांसद ने सदर अस्पताल के प्रसव वार्ड का निरीक्षण भी किया और अवैध वसूली की शिकायत पर सिविल सर्जन को कार्रवाई का निर्देश दिया.  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.