सुशील मोदी बोले, बिहार सरकार में मेरी आत्मा बसती है, बीजेपी छोड़ने वाले कभी शांति से नहीं रह पाते

0
64

पूर्व उपमुख्यमंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी ने रविवार को कहा कि हमारी पार्टी वनवे ट्रैफिक की तरह है। यहां आप आ सकते हैं लेकिन वापस नहीं जा सकते। जो लोग भाजपा छोड़ते हैं, वे कभी शांति से नहीं रहते। सुशील मोदी ने आगे कहा कि मैं बिहार सरकार का हिस्सा नहीं हूं, लेकिन राज्य की मौजूदा भाजपा-जदयू सरकार में मेरी आत्मा बसती है। सुशील मोदी ने ये बातें स्व. डा. सूरज नंदन कुशवाहा के 63वें जयंती समारोह में कहीं।

पूर्व डिप्टी सीएम ने कहा कि मैं यह ऐलान करना चाहता हूं कि इस सरकार को कोई डिगा नहीं सकता। कोई मध्यावधि चुनाव नहीं होगा। सरकार पांच साल चलेगी। सुशील मोदी ने कहा कि इस चुनाव में एक भी बूथ पर पुर्नमतदान नहीं हुआ, यह बीते 15 साल में हुए बदलाव का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि 1995 के चुनाव में बिहार में 1668 बूथों पर पुर्नमतदान हुआ था। कहा कि 1990 से 2004 के बीच बिहार में लोकसभा, विधानसभा और पंचायत के नौ चुनाव हुए। इन चुनावों में 641 लोग मारे गए थे।

सुशील मोदी ने आगे कहा कि हार से हताश विपक्ष बौखला गया है। कभी ईवीएम पर आरोप लगाते हैं तो कभी पोस्टल बैलेट की गिनती पर। कहा कि रामगढ़ सीट पर राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदा बाबू के बेटे ने 189 वोटों से जीत दर्ज की तो क्या यह बेईमानी हुई।

सुशील मोदी ने डिप्टी सीएम के रूप में किया शानदार काम : JDU
प्रदेश जदयू के अध्यक्ष व राज्यसभा सांसद बशिष्ठ नारायण सिंह ने पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के राज्यसभा भेजे जाने के निर्णय को लेकर उन्हें शुभकामनाएं दी हैं। साथ ही, कहा है कि विपक्ष यदि उम्मीदवार देता है तब भी उनका चुनकर जाना तय है। उन्होंने कहा कि सुशील मोदी योग्य और अनुभवी राजनेता हैं। वे जहां भी रहेंगे बढ़िया काम करेंगे। राज्यसभा भेजे जाने पर इनके अनुभव का और उपयोग हो पाएगा। जदयू अध्यक्ष ने कहा कि सुशील मोदी ने उप मुख्यमंत्री के रूप में बिहार में शानदार काम किया है। वित्तीय मामलों की उन्हें बेहतर समझ है। जीएसटी काउंसिल में इनका योगदान यादगार रहा है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ सहयोग और तालमेल के साथ उप मुख्यमंत्री का दायित्व निभाने में इन्होंने एक उदाहरण पेश किया है, जो लम्बे समय तक याद रखा जाएगा।

https://platform.twitter.com/widgets.js

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.