झारखंड: चलती ट्रेन से पत्नी, बेटा और बेटी सामान सहित हो गए गायब

0
3632

बिहार के समस्तीपुर से टाटानगर के लिए जुगसलाई छपरहिया मोहल्ला निवासी संदीप कुमार झा की पत्नी पूजा देवी (24), बेटा अनिकेत कुमार (2) और बेटी अनुष्का कुमारी (3) बुधवार को टाटा-छपरा सुपरफास्ट ट्रेन में सवार हुए, लेकिन आसनसोल स्टेशन के आसपास संदीप की पत्नी और दोनों बच्चे गायब हो गये। इस बाबत टाटानगर जीआरपी थाना में शिकायत की गई। इसके बाद जीआरपी टाटानगर ने संदीप से आसनसोल जीआरपी के नाम से आवेदन लिखवाया और उसे वहां भेज दिया। संदीप कुमार झा बिहार के मधुबनी जिला अंतर्गत विश्फी थाना के नाहस रुपौली गांव के रहने वाले हैं। दो दिसंबर को छपरा-टाटा सुपरफास्ट से समस्तीपुर स्टेशन से टाटानगर के लिए रवाना हुए थे।  

बकौल संदीप, समस्तीपुर स्टेशन में छपरा टाटा ट्रेन में कोच संख्या एस-वन में बर्थ-32 और 39 (साइड लोअर अपर) में शाम 5.20 बजे वे लोग सवार हुए। बरौनी में रात 8.20 बजे पत्नी और दोनों बच्चों के साथ भोजन किया। इसके बाद वह उपर वाले बर्थ में जाकर सो गये। नीचे में एक बर्थ पर पूजा दोनों बच्चों को सुलाकर बैठ गयी। सुबह 4.30 बजे संदीप की नींद खुली तो उसने पाया कि पत्नी और बच्चे बर्थ पर नहीं हैं। दो बैग भी गायब है, जिसमें उनका सामान और जेवर रखा था। इसके अलावा दो मोबाइल फोन भी नहीं है।

उसी बोगी में सफर कर रही बागबेड़ा की एक महिला ने संदीप को बताया कि आसनसोल से पहले उसने पूजा को देखा था। वह सीट पर बैठी थी। उसने उससे कहा भी कि वह सो जाए लेकिन उसने कुछ नहीं कहा। आसनसोल के बाद उसे नहीं देखी। सुबह 4.30 बजे के बाद संदीप ने पूरी ट्रेन में पत्नी और बच्चों को खंगाल लिया, लेकिन कुछ पता नहीं चला। तब तक ट्रेन कांड्रा स्टेशन के पास पहुंच चुकी थी। दूसरे यात्रियों से फोन लेकर कॉल किया, लेकिन वह नेटवर्क से बाहर था। इसके बाद टाटानगर स्टेशन में आकर घटना की जानकारी दी। जीआरपी टाटानगर ने संदीप से आसनसोल जीआरपी के नाम से आवेदन लिखवाया और उसे वहां भेज दिया।
सह यात्री अमितेश कुमार ने बताया कि उसकी मां ने महिला को टोका भी कि क्यों इस तरह से वह बैठी हुई है। इसपर उसने कहा कि वह ठीक से सो जाएगी। सुबह कांड्रा स्टेशन के पास ही उन लोगों की नींद खुली।

इधर पूजा के बैग में संदीप का भी मोबाइल, एटीएम कार्ड, पैन कार्ड व दूसरे सामान थे। मोबाइल फोन का अंतिम लोकेशन आसनसोल का शो कर रहा है। दिन में एक बार लोकेशन सरायरंजन बताया है। इसके बाद से फोन स्विच ऑफ है।

पूजा का मायका बिहार के समस्तीपुर के हरसिंगपुर गांव में है। उसके पिता प्रभास कुमार ठाकुर को संदीप ने फोन कर घटना की जानकारी दी। पूजा 31 जनवरी 2020 को अपने चचेरे भाई के जनेऊ कार्यक्रम में शामिल होने मायके गयी थी, इसके बाद लॉकडाउन शुरू हो गया। इसके चलते वह मायके में ही रह गयी। एक नवम्बर को पत्नी को लाने के लिए संदीप ससुराल गया था। 22 अप्रैल 2016 को पूजा से संदीप की शादी हुई थी। उनके बीच कोई विवाद नहीं था। संदीप अनहोनी की घटना की आशंका से भयभीत है।  

समस्तीपुर से एक परिवार टाटानगर स्टेशन आ रहा था। समस्तीपुर में शाम 5.20 बजे ट्रेन पर सवार हुआ। इसके बाद आसनसोल से महिला और दो बच्चे लापता हो गए। पति ने लिखित शिकायत की है। चूंकि घटनास्थल आसनसोल स्टेशन है। लिहाजा रेल एसपी के माध्यम से उसे आसनसोल जीआपी में भेजा जा रहा है। वे अपने स्तर से भी खोजबीन कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.