समस्तीपुर: 26 घंटे तक ट्रैक किनारे पड़ी रही लाश, कुत्तों ने नोंचा तो टूटी प्रशासन की नींद

0
54

समस्तीपुर रेलखंड पर ढोली व दुबहां स्टेशन के बीच मिश्रौलिया गांव के पास गुरुवार की शाम स्नातक के छात्र ने पवन एक्सप्रेस के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली। मृतक 19 वर्षीय नीतेश कुमार सीमावर्ती वैशाली जिला के बलिगांव थाने के लदहो मुशहरी गांव निवासी दिनेश राय का पुत्र था। सकरा पुलिस को सूचना देने के बावजूद 26 घंटे तक शव ट्रैक के किनारे पड़ा रहा। रात होने पर कुत्ते व गीदड़ शव को नोंच-नोंचकर खाते रहे और पुलिस की लापरवाही से मानवता शर्मसार होती रही।  

इस बीच किसी ने शव के पास से मिले फोटो और आधार कार्ड की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल कर दी। इससे शुक्रवार को एक परिचित ने मृत छात्र की पहचान की और परिवार को सूचना दी। ग्रामीणों के दबाव के बाद शाम करीब छह बजे सकरा पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। वहीं परिचित ने बताया कि नीतेश बीए पार्ट वन का छात्र था। माता-पिता का इकलौता पुत्र था। अब इसके परिवार में एक बहन रह गई है। गुरुवार को वह गुस्से में घर से निकला था।  

वहीं मिश्रौलिया गांव के ग्रामीण बेचन राय, पूर्व जिला पार्षद मो. रेयाज अहमद और मुखिया पति प्रेमलाल राय ने बताया कि छात्र साइकिल से आया था। एक ताड़ी दुकान के पास साइकिल खड़ी कर शाम करीब चार बजे पवन एक्सप्रेस के आगे कूद गया। शव के पास से ग्रामीणों को फटा आधार कार्ड मिला। इस आधार पर उसकी पहचान हुई। मुखिया पति और पूर्व जिला पार्षद ने बताया कि घटना के बाद गुरुवार की शाम सकरा थानेदार को सूचना दी गई थी, लेकिन पुलिस ने लापरवाही की। इस कारण शव रेललाइन के किनारे 26 घंटे तक पड़ा रहा। रात में कुत्ते व जंगली जानवर शव को नोंच-नोंचकर खाते रहे।

वहीं सकरा थानाध्यक्ष रामनाथ प्रसाद ने बताया कि शुक्रवार की शाम में शव रेललाइन के किनारे पड़े होने की सूचना दी गई। इसपर पुलिस मौके पर गई और शव को पोस्टमार्टम में भेजने की कारवाई की। मुखिया पति और पूर्व जिला पार्षद ने गुरुवार को सूचना नहीं दी थी। फिलहाल आत्महत्या की वजह पता नहीं चल सकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.