इजरायली अधिकारी का दावा, धरती पर मौजूद हैं एलियन्स, ट्रंप खोलने वाले थे राज

0
99

एलियंस  मौजूद हैं या नहीं? इस बात की चर्चा हमेशा होती रहती है, लेकिन अभी तक इसको लेकर कोई सबूत नहीं मिले हैं. अब इजराइल के अंतरिक्ष सुरक्षा प्रोग्राम के पूर्व प्रमुख हाइम इशेद  ने दावा किया है एलियंस असल में मौजूद हैं और अमेरिका  के अलावा इजराइल  के साथ गुप्त रूप से संपर्क में हैं. उन्होंने कहा कि एलियंस अभी शांत हैं क्योंकि मानवता तैयार नहीं है।

इजरायल के एक वरिष्ठ स्पेस अधिकारी ने एलियन्स को लेकर सनसनीखेज खुलासे किए हैं। पिछले तीस साल से इजरायल के स्पेस सिक्योरिटी प्रोग्राम के हेड और रिटायर्ड जनरल हाएम इशेद का मानना है कि एलियन्स होते हैं और वे धरती पर भी रह रहे हैं और वे सीक्रेट तरीके से अमेरिका और इजरायल के संपर्क में हैं। इशेद के मुताबिक एलियंस सच में मौजूद हैं, वे धरती पर छिपे हैं और मंगल ग्रह पर उनका एक अड्डा भी है।  उन्‍होंने आगे कहा, मंगल ग्रह की गहराइयों में एलियन्‍स का एक अड्डा है। वहां पर एलियन्‍स के प्रतिनिधि और अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री मौजूद हैं।

इजराइल के बड़े वैज्ञानिक का दावा! मंगल पर मौजूद हैं एलियंस, ट्रंप भी जानते  हैं ये सच I Galactic Federation of Aliens Working With US and Israel Former  Israel Space Chief Haim

एलियंस का गेलेक्टिक फेडरेशन
हाइम इशेद 30 साल तक इस्राइल के अंतरिक्ष सुरक्षा प्रोग्राम से जुड़े हुए थे और अब रिटायर्ड हो चुके हैं। हाइम ने बताया कि उनका एक गेलेक्टिक फेडरेशन नाम का संगठन है, जिसने वॉशिंगटन के साथ एक गुप्त संधि के तहत मंगल गृह पर एक अंडरग्राउंड स्पेस बेस तैयार किया है। इसके तहत अंतरिक्ष यात्री और एलियंस एक साथ फेडरेशन की बेहतरी के लिए काम कर रहे हैं।

एरिया 51: यह है दुनिया की सबसे रहस्यमयी जगह

इसलिए बना हुआ एलियंस का अस्तित्व रहस्य
एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक हाइम ने इस्राइली अखबार को बताया कि अमेरिका और इस्राइल लंबे समय से एलियंस के साथ काम कर रहे हैं लेकिन उनका अस्तित्व इसलिए रहस्य बना हुआ है क्योंकि मानवता अभी तैयार नहीं है। उन्होंने बताया कि अंतरिक्ष का अपना गेलेक्टिक फेडरेशन नाम का संगठन भी है।

एलियंस को लेकर खुलासा करने वाले थे ट्रंप
हाइम इशेद ने इस्राइल अंतरिक्ष सुरक्षा प्रोग्राम के साथ 1981-2010 तक काम किया। उन्होंने बताया कि निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप एलियंस की मौजूदगी का खुलासा करने वाले थे। हालांकि गेलेक्टिक फेडरेशन में मौजूद एलियंस ने उन्हें ऐसा करने से रोका। वे किसी तरह का सामूहिक उन्माद पैदा नहीं करना चाहते थे।

अमेरिका और एलियंस के बीच समझौता
हाइम इशेद ने दावा किया कि वह एलियंस के अस्तित्व की पुष्टि कर सकते हैं। वे लंबे समय से हमारे साथ संपर्क में हैं। इसके अलावा उन्होंने बताया कि एलियंस और अमेरिकी सरकार के बीच एक एग्रीमेंट भी है। वो प्रयोग कर रहे हैं और हम पर राज करना चाहते हैं।

कामकाज गुप्त रखने का समझौता
उनका कहना है कि एलियंस ने अपने कामकाजों को गुप्त रखने के लिए एक समझौता किया है। एलियंस मानवता के विकसित होने की प्रतीक्षा कर रहे हैं और वो चाहते हैं कि इंसान पहले एक ऐसी अवस्था में पहुंच जाए जहां आमतौर पर स्पेस और स्पेसशिप की समझ इंसानों को हो जाए।

इशेद का ये भी कहना था कि अगर उन्होंने ये बात आज से पांच साल पहले पब्लिक में कही होती तो उन्हें अस्पताल पहुंचा दिया जाता। लेकिन उन्हें उम्मीद है कि अब चीजें बदलेंगी. इशेद ने कहा कि उन्होंने जहां भी अपनी बात रखी, सबने उन्हें पागल ही बताया लेकिन उन्हें इसकी परवाह नहीं है और उनके पास खोने के लिए कुछ नहीं है।  साल 2011 में जब इशेद रिटायर हुए थे तो उनके योगदान को देखते हुए इजरायल की मीडिया ने उन्हें फादर ऑफ इजरायल सैटेलाइट प्रोग्राम भी बताया था। अपने पद से हटने के बाद उन्होंने अपना सबसे ज्यादा ध्यान उसी एक चीज पर लगाया है जो उनके लिए बेहद रहस्यमयी और दिलचस्प है, वो हैं एलियन्स।  

जेरुसेलम पोस्ट के मुताबिक, इस शख्स ने अपने विचारों को एक किताब की शक्ल भी दी है। द यूनिवर्स बियॉन्ड द हॉरीजन नाम की इस किताब में उन्होंने ये भी समझाने की कोशिश की है कि कैसे इन एलियन्स के चलते हमारी धरती पर न्यूक्लियर दुर्घटनाएं होने से बची हैं। उन्होंने अपनी इस किताब में एलियन्स के नेचर, उनके अस्तित्व से जुड़ी कई थ्योरी दी हैं।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.