कृषि कानूनों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बोले- अब सभी अड़चनें दूर की जा रही हैं, मेरे देश के किसानों को होगा फायदा

0
42

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी फिक्की की 93 वीं वार्षिक आम बैठक का उद्घाटन किया, जिसमें उन्होंने विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की, उन्होंने जारी किसान आंदोलन के मुद्दे पर भी सरकार का रूख साफ किया, उन्होंने कहा कि- आज, भारत के किसान अपनी उपज को मंडियों और साथ ही बाहर भी बेच सकते हैं। किसान अपनी उपज को डिजिटल प्लेटफॉर्म पर भी बेच सकते हैं। हम किसानों की आय बढ़ाने और उन्हें अधिक समृद्ध बनाने के लिए ये सभी पहल कर रहे हैं।

आज भारत के किसानों के पास अपनी फसल मंडियों के साथ ही बाहर भी बेचने का विकल्प है। आज भारत मे मंडियों का आधुनिकीकरण तो हो ही रहा है, किसानों को डिजिटल प्लेटफार्म पर फसल बेचने और खरीदने का भी विकल्प दिया है।

pm modi पीएम मोदी ने किसान आंदोलन के मुद्दे पर भी सरकार का रूख साफ किया  |  तस्वीर साभार: ANI

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी फिक्की की 93 वीं वार्षिक आम बैठक का उद्घाटन किया, जिसमें उन्होंने विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की, उन्होंने जारी किसान आंदोलन के मुद्दे पर भी सरकार का रूख साफ किया, उन्होंने कहा कि- आज, भारत के किसान अपनी उपज को मंडियों और साथ ही बाहर भी बेच सकते हैं। किसान अपनी उपज को डिजिटल प्लेटफॉर्म पर भी बेच सकते हैं। हम किसानों की आय बढ़ाने और उन्हें अधिक समृद्ध बनाने के लिए ये सभी पहल कर रहे हैं।

आज भारत के किसानों के पास अपनी फसल मंडियों के साथ ही बाहर भी बेचने का विकल्प है। आज भारत मे मंडियों का आधुनिकीकरण तो हो ही रहा है, किसानों को डिजिटल प्लेटफार्म पर फसल बेचने और खरीदने का भी विकल्प दिया है।

पीएम मोदी ने कहा कि हमने कृषि क्षेत्र और खाद्य प्रसंस्करण, भंडारण या कोल्ड चेन – हम दीवारों से जुड़े कृषि क्षेत्र और इससे जुड़े अन्य क्षेत्रों को देखा होगा। सभी दीवारों और बाधाओं को अब हटाया जा रहा है। सुधारों के बाद, किसानों को नए बाजार, विकल्प और प्रौद्योगिकी का अधिक लाभ मिलेगा।

पीएम मोदी के संबोधन पर एक नजर-

PM virtual Address at FICCI toady
  • इन सारे प्रयासों का लक्ष्य यही है कि किसानों की आय बढ़े, देश का किसान समृद्ध हो। जब देश का किसान समृद्ध होगा तो देश भी समृद्ध होगा।
  • इन रिफॉर्म्स के बाद किसानों को नए बाजार मिलेंगे,नए विकल्प मिलेंगे, टेक्नोलॉजी का लाभ मिलेगा, देश का कोल्ड स्टोरेज इंफ्रास्ट्रक्चर आधुनिक होगा। इन सबसे कृषि क्षेत्र में ज्यादा निवेश होगा। इन सबका सबसे ज्यादा फायदा मेरे देश के किसान को होने वाला है।
  • देश के कृषि क्षेत्र को मजबूत करने के लिए बीते वर्षों में तेजी से काम किये गए है। उससे भारत का एग्रीकल्चर सेक्टर पहले से कहीं अधिक वाइब्रेंट हुआ है।
  • उन्होंने कहा- हमारी अर्थव्यवस्था को सेक्टरों के बीच बाधाओं की जरूरत नहीं है, लेकिन एक दूसरे का समर्थन करने के लिए सेतु है। पिछले कुछ वर्षों में, हमने ऐसी सभी बाधाओं को तोड़ने के लिए सुधार किए हैं।
  • ये निश्चित है कि 21वीं सदी के भारत की ग्रोथ को गांव और छोटे शहर ही सपोर्ट करने वाले हैं। आप जैसे entrepreneurs को गांव और छोटे शहरों में निवेश का मौका बिल्कुल नहीं गंवाना चाहिए।
  • पीएम-वाणी योजना के तहत देशभर में सार्वजनिक WiFi Hotspot का नेटवर्क तैयार किया जाएगा। इससे गांव-गांव में कनेक्टिविटी का व्यापक विस्तार होगा। मेरा आपसे आग्रह है कि रूरल और सेमी रूरल क्षेत्रों में बेहतर कनेक्टिविटी की इन प्रयासों में भागीदार बनें।
  • पिछले 6 वर्षों में भारत ने भी ऐसी ही सरकार देखी है, जो सिर्फ और सिर्फ 130 करोड़ देशवासियों के सपनों को समर्पित है। जो हर स्तर पर देशवासियों को आगे ले जाने के लिए काम कर रही है।
  • भारत ने जिस तरह बीते कुछ महीनों में एकजुट होकर काम किया, नीतियां बनाई, निर्णय लिए हैं, स्थितियों को संभाला है । उसने पूरी दुनिया को चकित करके रख दिया है।
  • इस महामारी के समय भारत ने अपने नागरिकों के जीवन को सर्वोच्च प्राथमिकता दी, ज्यादा से ज्यादा लोगों का जीवन बचाया। आज इसका नतीजा देश भी देख रहा है और दुनिया भी देख रही है।
  • पीएम मोदी ने कहा-हम लोगों ने 20-20 के मैच में तेजी के साथ बहुत कुछ बदलते देखा है। लेकिन 2020 के इस वर्ष ने सभी को मात दे दी है। इतने उत्तर चढ़ाव से देश और दुनिया गुजरी है कि कुछ वर्षों बाद जब हम कोरोना काल को याद करेंगे तो शायद यकीन ही नहीं आएगा। लेकिन अच्छी बात ये रही कि जितनी तेजी से हालात बिगड़े, उतनी ही तेजी के साथ सुधर भी रहे हैं। इस महामारी के समय भारत ने अपने नागरिकों के जीवन को सर्वोच्च प्राथमिकता दी, ज्यादा से ज्यादा लोगों का जीवन बचाया। आज इसका नतीजा देश भी देख रहा है और दुनिया भी देख रही है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.