बंगाल: क्या है प्रशांत किशोर के ट्वीट का मतलब? क्या रणनीति हो रही गड़बड़? जानिए यहाँ

0
716

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मियां तेज हो गई हैं. भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का केंद्रीय नेतृत्व बंगाल फतह करने के मिशन पर लग गया है. इस बीच तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के राजनीतिक सलाहकार प्रशांत किशोर ने ट्वीट करके करके कहा कि अगर बीजेपी दहाई का आंकड़ा पार करती है तो मैं ट्विटर छोड़ दूंगा.

प्रशांत किशोर ने कहा है कि बीजेपी की तरफ से पश्चिम बंगाल में मीडिया मैनेजमेंट का खेल खेला जा रहा है. बीजेपी को सपोर्ट करने वाली मीडिया सच्चाई से दूर रिपोर्टिंग कर रही है, जबकि हकीकत यह है कि पश्चिम बंगाल में बीजेपी डबल डिजिट को क्रॉस करने में संघर्ष करती दिखेगी. प्रशांत किशोर ने बीजेपी को लेकर यह ट्वीट करते हुए दावा किया है कि अगर भारतीय जनता पार्टी इससे बेहतर प्रदर्शन करेगी तो वह ट्वीटर की दुनिया को छोड़ देंगे.

यहाँ एक बात चौंकाती है प्रशांत किशोर जो खुद चुनाव में जीत दिलाने के लिए मीडिया का इस्तेमाल करते हैं अब उनको ही अपनी रणनीति को सफल बताने के लिए दावे करने पड़ रहे हैं. दरअसल राजनीति को अब रणनीतिकारों ने शह और मात का खेल बना दिया है. हालाँकि प्रशांत पिछले कुछ चुनावों से अपनी रणनीति को सफलता से अमल नही कर पा रहे हैं और इसी कारण जब बीजेपी ने बंगाल में चुनौती देने के लिए माहौल बनाना शुरू कर दिया तो प्रशांत को ट्वीट कर अपनी रणनीति पर भरोसा रखने का दावा करना पड़ गया क्योंकि ममता की पार्टी में प्रशांत किशोर की रणनीति पर सवाल खड़े होने शुरू हो गए हैं. दरअसल प्रशांत को अब यह डर सताने लगा है कि बीजेपी कहीं उनकी प्लानिंग ना फेल कर दे.

प्रशांत किशोर के इस ट्वीट पर बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव और पश्चिम बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट करके कहा कि भाजपा की बंगाल में जो सुनामी चल रही हैं, सरकार बनने के बाद इस देश को एक चुनाव रणनीतिकार खोना पड़ेगा.

बीजेपी का मिशन बंगाल
आपको बता दें कि बीजेपी के लिए मिशन बंगाल काफी अहम है. यही वजह है कि केंद्रीय नेतृत्व लगातार बंगाल का दौरा कर रहे हैं. पश्चिम बंगाल के दो दिवसीय दौरे पर अमित शाह ने कई कार्यक्रमों में हिस्सा लिया. शाह ने शांतिनिकेतन में भारत के महान विचारक गुरुदेव रविंद्रनाथ टैगोर को श्रद्धासुमन अर्पित किए. अमित शाह ने कहा कि बीजेपी बंगाल में 200 से अधिक सीटें जीत रही है.

वहीं प्रशांत किशोर ने कहा है कि जिन लोगों को उनकी बात पर भरोसा नहीं है वह उनका ट्वीट सेव करके रख सकते हैं प्रशांत किशोर पश्चिम बंगाल चुनाव में तृणमूल कांग्रेस के लिए रणनीति बना रहे हैं हालांकि तृणमूल का साथ छोड़ने वाले नेताओं ने पिछले दिनों प्रशांत किशोर की कार्यशैली पर भी सवाल खड़े किए थे तृणमूल के बाकी नेताओं का आरोप है कि प्रशांत किशोर ममता बनर्जी को पूरी तरह से हाईजैक कर चुके हैं और पार्टी में अभिषेक बनर्जी के साथ साथ केवल प्रशांत किशोर की चल रही है.

प्रशांत किशोर के ट्वीट से एक बात तो साफ हो गई है कि बीजेपी ने बंगाल में TMC की नींद उड़ा दी है और प्रशांत किशोर को उन्ही की दवा पिला रही है.

बिहार में एक समय नीतीश के बेहद करीबी राह प्रशांत ने खूब सुर्खियां बटोरीं और दुकान भी खूब चली लेकिन अब नीतीश से खराब रिश्तों ने यहाँ काम बंद कर दिया है ऐसे में अगर बंगाल में दीदी चुनाव हारती हैं तो प्रशांत किशोर की दुकान बंद होने के द्वार पर जरूर पहुँच सकती है.

प्रशांत की दुकान चलती है या इसपर लगेगा ताला यह तो आने वाले चुनाव में बंगाल की जनता ही तय करेगी , तब तक दावों का खेल जारी रहेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.