नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) ने फरार खालिस्तानी आतंकवादी गुरजीत सिंह निज्जर को दिल्ली अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से गिरफ्तार किया है. आरोप है कि निज्जर साल 2017 में भारत से फरार होकर यूरोप चला गया था और इन दिनों यूरोप के साइप्रस में रह रहा था. उसके खिलाफ महाराष्ट्र के पुणे में आपराधिक मुकदमा दर्ज है. एनआईए निज्जर को ट्रांजिट रिमांड पर लेकर मुंबई जा रही है जहां उसे विशेष अदालत के सामने पेश कर पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया जाएगा.

एनआईए के एक आला अधिकारी ने बताया की निज्जर महाराष्ट्र के पुणे में एक आपराधिक मामले में शामिल था और इस मामले में एनआईए ने अन्य आरोपियों के साथ गुरजीत सिंह के खिलाफ भी आरोपपत्र कोर्ट में दायर किया था. मामले के मुताबिक आरोपी गुरजीत सिंह, हरपाल सिंह और मोइन खान सोशल मीडिया के प्लेटफार्म पर सक्रिय थे और खालिस्तान को अलग राज्य बनाने की मांग को लेकर आतंकवाद को पुनर्जीवित करने के लिए इन लोगों ने आपराधिक साजिश रची थी.

जांच के दौरान यह पता चला कि अलग खालिस्तान राज्य बनाने की मांग को लेकर आरोपी हरपाल सिंह और मोइन खान ने पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह हत्याकांड के मुख्य आरोपी जगतार सिंह हवारा के फोटोग्राफ सोशल प्लेटफॉर्म पर पोस्ट किए थे.

साथ ही इन लोगों ने सोशल प्लेटफॉर्म पर 1984 की ऑपरेशन ब्लू स्टार के फोटो और वीडियो तथा आतंकवादी संगठन बब्बर खालसा इंटरनेशनल संबंधित पोस्ट भी सोशल मीडिया पर लगाई थी और उनका मकसद अन्य सिख युवकों को अपनी विचारधारा में शामिल करना था.

जांच के दौरान पता चला कि आरोपी मोइन खान साल 2013 से साल 2016 के बीच तिहाड़ जेल में बंद था और इसी अवधि के दौरान मोइन खान ने आतंकवादी जगतार सिंह हवारा से अपना संपर्क बनाया और उसके साथ काम करने की इच्छा जताई.

इसके लिए उसने अपने फेसबुक अकाउंट से खालिस्तान जिंदाबाद नाम की आईडी से उसे फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी. इसी फेसबुक अकाउंट से जुड़कर मोइन खान हरपाल सिंह और गुरजीत सिंह निज्जर के संपर्क में था .

NIA ने खालिस्तानी आतंकी गुरजीत सिंह निज्जर को दिल्ली एयरपोर्ट से किया गिरफ्तार, लंबे समय से था फरार
गुरजीत सिंह निज्जर

आरोप है कि गुरजीत सिंह ने मोइन खान को भारत में मुसलमानों और सिखों पर हुए कथित अत्याचारों के बारे में चर्चा करके प्रेरित किया उसे खालिस्तान राज्य बनाने के लिए काम करने के लिए प्रेरित किया. इ

सी साजिश के सिलसिले में आरोपी गुरजीत सिंह निज्जर ने साल 2018 में मोइन खान को हथियार और गोला बारूद खरीदने के निर्देश दिए और आतंकी साजिश को अंजाम देने के लिए कहा.

23 मई 2019 को एनआईए ने वांछित आरोपियों गुरजीत सिंह निज्जर आरोपी हरपाल सिंह मोइन खान और सुंदर लाल पाराशर के खिलाफ एनआईए स्पेशल कोर्ट में चार्जशीट दायर की थी. इस जांच के दौरान पता चला कि निज्जर मूलत अमृतसर की तहसील अजनाला का रहने वाला था और साल 2017 में ही साइप्रस चला गया था.

एनआईए के आला अधिकारी के मुताबिक इसके बाद गुरजीत सिंह के खिलाफ एक लुक आउट सर्कुलर जारी किया गया था और इसी सर्कुलर के तहत गुरजीत सिंह को नई दिल्ली हवाई अड्डे से गिरफ्तार किया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.