एक दिन पहले प्रदेश से आरजेडी कार्यालय में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को लाइन में खड़ा करवा देने वाले जगदानंद सिंह ने अब बयान देने वाले नेताओं के लिए नया फरमान जारी कर दिया है. जगदा बाबू ने फरमान भले ही मीडिया के लिए जारी किया हो लेकिन इसका असर सीधे -सीधे पार्टी के नेताओं पर पड़ेगा, जो सुबह सवेरे प्रदेश कार्यालय पहुंचकर विरोधियों पर मीडिया के जरिए निशाना साधते थे.

आरजेडी कार्यालय में अब मीडिया की एंट्री सुबह 11 बजे के बाद ही हो पाएगी. इसके साथ ही साथ मीडिया के साथियों को यह भी गाइडलाइन दिया गया है कि वह कार्यालय परिसर या कहीं अन्य पार्टी के नेताओं की प्रतिक्रिया ना , बल्कि प्रवक्ता कक्ष में ही जाकर कवरेज करें. कार्यालय सचिव चंदेश्वर प्रसाद सिंह की तरफ से प्रदेश कार्यालय में इसकी सूचना चस्पा कर दी गई है.

प्रदेश की कमान संभालने के बाद जगदा बाबू लगातार आरजेडी में नए-नए फरमान जारी करते रहे हैं. जगदा बाबू की कार्यशैली को लेकर इसके पहले भी सवाल खड़े होते रहे हैं लेकिन तेजस्वी के विश्वासपात्र जगदानंद सिंह पार्टी के अन्य नेताओं की परवाह किए बगैर एक के बाद एक नए फरमान जारी करते रहे हैं. बुधवार को प्रदेश कार्यालय में जब पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय चौधरी चरण सिंह की जयंती मनाई गई उस वक्त भी जगदा बाबू ने पार्टी के तमाम वरिष्ठ नेताओं को कतार में खड़ा करवा दिया था. अब्दुल बारी सिद्धकी, श्याम रजक, तनवीर आलम, उदय नारायण चौधरी समेत तमाम नेताओं को कतार में खड़ा होना पड़ा था. तेजस्वी यादव ने सबसे पहले माल्यार्पण किया था और उसके बाद लाइन में खड़े बाकी नेताओं ने.

प्रदेश नेतृत्व की तरफ से कार्यालय में जो नया नोटिस लगाया गया है उसका सीधा प्रभाव उन नेताओं पर पड़ेगा जो सुबह से प्रदेश कार्यालय पहुंचकर मीडिया को बयान देते नजर आते थे. पूर्व मंत्री श्याम रजक, आरजेडी प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी समेत अन्य नेता सुबह से मीडिया को किसी भी राजनीतिक मुद्दे पर प्रतिक्रिया देने के लिए उपलब्ध रहते थे, लेकिन अब इन सभी के ऊपर जगदा बाबू के फरमान से अंकुश लग जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.