आलमनगर थाना क्षेत्र से लापता एक युवक की डेड बॉडी उदाकिशुनगज अनुमंडल के लोक शिकायत निवारण कार्यालय के पीछे मिली है. इस घटना से पूरे इलाके में सनसनी फ़ैल गई है. पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. मामले की छानबीन की जा रही है.मृतक की पहचान आलमनगर थाना क्षेत्र के मधेली दियारा गांव निवासी स्वर्गीय महावीर भगत के पुत्र राजेश कुमार भगत (34) के रूप में हुई है. राजेश 17 दिसंबर की रात से लापता था. परिजनों ने उदाकिशुनगंज थाने में आवेदन देकर उसकी बरामदगी की गुहार लगाई थी. परिजनों ने बताया कि मृतक ऑटो को ठीक करवाने के लिए उदाकिशुनगंज गया था. पेट्रोल पंप के पास एक गैरेज में ऑटो देने के बाद उसके कुछ पार्ट्स लाने के लिए पूर्णिया जाना था. पार्ट्स की खरीदारी करने के लिए वह कुछ रुपये भी अपने साथ ले गया था. परिजनों ने बताया कि देर शाम तक राजेश किसी कारण से पूर्णिया नहीं जा सका. उसने उदाकिशुनगंज के फुलौत चौक के पास रहने वाले चंदन ठाकुर के पास रुक कर अपने घर बात की थी. कहा जा रहा है कि राजेश की मां से चंदन ठाकुर की भी बात हुई थी. लेकिन देर रात से उसका मोबाइल स्विच ऑफ हो गया. 

राजेश के मोबाइल पर कई बार बात करने की कोशिश की गयी लेकिन मोबाइल स्विच ऑफ होने के कारण उससे बात नहीं हो सकी. इसके बाद परिजनों ने उसकी खोजबीन शुरू कर दी. कई दिन खोजबीन करने के बाद भी पता नहीं चलने पर राजेश की पत्नी पूनम देवी ने उदाकिशुनगंज थाने में गुमशुदगी दर्ज करायी. शुक्रवार की दोपहर उदाकिशुनगंज के लोक निवारण शिकायत कार्यालय के पीछे उसका शव बरामद हुआ. 

मवेशी चरा रही एक महिला ने शव को देखकर शोर मचाया. खाई में शव मिलने की खबर मिलने के बाद राजेश के परिजन ग्रामीणों के साथ मौके पर पहुंचेे. शव की शिनाख्त राजेश भगत के रूप में की गई. शव मिलने की सूचना पर थानाध्यक्ष शशिभूषण सिंह पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे. उन्होंने घटनास्थल का जायजा लिया. पूछताछ करने के बादपुलिस ने ड्रेनेज स्थित एक महिला के घर छापेमारी की जिसमे में मृतक के टेम्पू का इंजन मिला. बताया गया कि इस मामले चंदन ठाकुर की पत्नी को हिरासत में लिया गया है. जबकि चंदन ठाकुर फरार बताया जा रहा है. पुलिस चंदन की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी करने में जुट गयी. घटना से क्षेत्र के लोग सकते में हैं. 

हत्या के आरोप से बचने को फेंका शव राजेश की हत्या के आरोपी चंदन और उसकी पत्नी पर शव को अपने शौचालय के पास गड्ढा कर दफराने का आरोप लगाया जा रहा है. कहा जा रहा है कि शव से बदबू आने और हत्या के केस में फंसने से बचने के लिए उसने शव को उदाकिशुनंज अनुमंडल के लोक शिकायत निवारण कार्यालय के पीछे फेंक दिया था. परिजनों का कहना है कि राजेश की तलाश करते हुए वे लोग चंदन के घर पर भी गए थे. उसके घर पर टेम्पो का इंजन भी मिला था.

हत्या की आशंका होने पर मृतक के ससुर ने शौचालय के आसपास खुदाई करके भी देखा कि कहीं आंगन में ही तो शव शव दफन नहीं कर दिया गया है. पूरी खुदाई करने के पहले ही चंदन ठाकुर की पत्नी ने उन्हें रोक दिया था. उसे बताया गया था कि शौचालय की टंकी है. इसके बाद उसने खोदना बंद कर दिया था. मृतक के ससुर को आशंका है कि शौचालय के पास बने गड्ढे में ही उसाके दामाद को मारकर दफना दिया गया होगा. बदबू आने के बादहत्या के आरोप से बचने के लिए शव को बाहर फेंक दिया गया. हालांकि थाना अध्यक्ष शशिभूषण सिंह ने शव को दफनाने के बाद फेंकने से इंकार किया है. डीएसपी सतीश कुमार वर्मा ने बताया कि मामले की छानबीन की जा रही है. चंदन ठाकुर की पत्नी को पूछताछ की जा रही है. आरोपी को गिरफ्तार किया जाएगा. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.