सुपौल में NH-57 किनारे गड्ढे में कीचड़ में फंसी जली हुई कार से एक व्यक्ति का कंकाल बरामद होने से इलाके में सनसनी फैल गई। घटना किसनपुर थाना क्षेत्र स्थित झाझा गांव के पास की है। गुरुवार की अहले सुबह NH-57 के राघोपुर-कोसी महासेतु लेन पर दक्षिण की दिशा में फोरलेन किनारे जलभराव के बीच यह जली हुई कार खड़ी थी। कार के पीछे की सीट पर एक व्यक्ति का कंकाल पड़ा हुआ था। घटना के बाद वहां लोगों की भीड़ जमा हो गई, जिससे कुछ देर तक एक लेन पर आवागमन भी प्रभावित हुआ।

इधर, सूचना की सूचना मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंच गई है और सड़क पर लगी लोगों को भीड़ को हटाया। मौके पर पुलिसकर्मियों को तैनात कर दिया गया है। स्थानीय लोग बता रहे हैं कि अग्निशमन विभाग की गाड़ी गुरुवार की सुबह लगभग 5 बजे पहुंची थी। लेकिन तब तक कार समेत उसमें सवार एक व्यक्ति भी जलकर राख हो चुका था।

लोग हत्या की आशंका जता रहे हैं

घटनास्थल पर जली हुई कार और पीछे की सीट पर कंकाल को देखने के बाद स्थानीय लोग यह कयास लगा हैं कि किसी ने रहस्यमय तरीके से इस वारदात को अंजाम दिया है। लोगों का कहना है कि यदि NH-57 पर ही कार में आग लगी होती तो वहां भी जला हुआ कुछ अवशेष मिलता। लेकिन, सड़क पर ऐसे कोई सुराग नहीं मिले हैं। जिससे यह कहा जा सके कि चलती कार में आग लगी और कार सवार बचने के लिए कीचड़ में उतरा। कंकाल का पीछे की सीट पर मिलना घटना को संदेहास्पद बता रहा है। ऐसा प्रतीत होता है कि किसी ने इस शख्स की पहले हत्या की, फिर उसके शव को कार के बीच सीट पर रख दिया। इसके बाद गड्ढे में कार को उतार कर उसमें आग लगा दी हो।

नंबर प्लेट और कार में रखे दस्तावेज भी राख

कार पूरी तरह जल चुकी थी। यहां तक कि आग में कार के आगे और पीछे लगा नंबर प्लेट तक जलकर राख हो चुका था। इसके अलावा कार के अंदर रखे दस्तावेज और कागजात सब पूरी तरह नष्ट हो चुके हैं। ऐसा कोई भी चीज नहीं बचा, जिससे यह पता चल सके कि यह कार और कंकाल आखिर किसका है।

दमकल गाड़ी पहुंचने से पहले राख हो गई कार
इधर, किसनपुर थानाध्यक्ष सुमन कुमार ने बताया कि घटना की सूचना मिलते ही दमकल की गाड़ी भी पहुंची थी, लेकिन तब तक सवार व्यक्ति भी जलकर राख हो चुका था। कार का नंबर प्लेट भी जल गया है, इस कारण पुलिस को मृतक की पहचान करने में भी परेशानी हो रही है। मामला संदेहास्पद लग रहा है। आगे की कार्रवाई चल रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.