नालंदा: औलाद के लिए शौहर ने गर्भवती बीवी पर उड़ेल दी एसिड की पूरी बोतल

0
29

नालंदा के सिलाव में एक शौहर ने औलाद के लिए अपनी ही पत्नी पर एसिड की पूरी बोतल उड़ेल दी। पत्नी की गलती बस इतनी थी कि वह 5 बच्चों के बाद अब और औलाद नहीं चाहती थी। घटना सिलाव के कड़ाह गांव की है। पीड़िता पत्नी बुरी तरह से घायल है और उसको इलाज के लिए विम्स रेफर कर दिया गया है। हादसे में पीड़िता का चेहरा बुरी तरह से झुलस गया है। पीड़िता की पहचान परवेज आलम की पत्नी रेशमा खातून (30 साल) के रूप में की गई है। परवेज और रेशमा के 5 बच्चे हैं, जिसमें से 3 बेटी और 2 बेटा है। रेशमा के गर्भ में उसका 6ठा बच्चा पल रहा है।

औलाद नहीं चाहती थी रेशमा
रेशमा और परवेज के 5 बच्चे हैं। इसलिए रेशमा अब और बच्चे नहीं चाहती थी लेकिन इसके लिए पति जोर-जबरदस्ती करता था। इसी बात को लेकर दोनों में अक्सर लड़ाई होती ही रहती थी। इसी में छठी बार भी रेशमा के पेट में बच्चा ठहर गया। शुक्रवार को भी इसी बात पर बहस छिड़ गई और हाथापाई शुरू हो गई। रेशमा के परिजनों ने बताया कि वह अब और औलाद नहीं चाहती थी लेकिन परवेज उसके साथ जोर-जबरदस्ती करता था। औलाद के लिए वह पत्नी को बुरी तरह पीटता भी था।

चेहरे पर उड़ेल दी पूरी बोतल
शुक्रवार को 11 बजे पति-पत्नी में कहासुनी शुरू हो गई। विवाद इतना बढ़ गया कि हाथापाई भी होने लगी। इसी में परवेज ने आवेश में आकर एसिड की बोतल उठा ली और रेशमा पर पूरी की पूरी बोतल ही उड़ेल दी। आस-पास के लोगों ने जब देखा तो उसे बचाने दौड़े लेकिन तब तक तो रेशमा का चेहरा तेजाब से झुलस चुका था। मारे दर्द के उसकी चीत्कार पूरे इलाके में पसर कर रह गई। परवेज ने जब देखा अब लोग उसे छोड़ेंगे नहीं तो वह फरार हो गया।

हार्डवेयर की दुकान से लाया था तेजाब
परवेज ने अपने घर में एसिड की बोतल हार्डवेयर की दुकान से लाई थी। इससे बाथरूम और टॉयलेट साफ किया करता था। वही एसिड घर में पहले से रखा हुआ था, जिसका इस्तेमाल उसने झगड़े के दौरान किया। इधर, सिलाव थाना प्रभारी का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। पहले पति को गिरफ्तार करने की प्रक्रिया चल रही है। उन्होंने बताया कि इस घटना की जांच न केवल घरेलू बल्कि अन्य बिंदुओं पर भी जांच की जा रही है। आसपास के लोगों से कुछ और भी सूचनाएं मिल रही हैं जिसके आधार पर मामले की पूरी जांच की जाएगी।

8 महीने की गर्भवती है रेशमा

रेशमा के पेट में 8 माह का बच्चा पल रहा है। उसके 5 बच्चे हैं, जिसमें 3 बेटियां और 2 बेटे हैं। स्थानीय लोगों ने बताया कि लड़ाई तो अक्सर होती रहती थी लेकिन शुक्रवार को परवेज ने आव ना देखा ताव रेशमा के चेहरे पर तेजाब फेंक दिया। इससे रेशमा का चेहरा बुरी तरह से जल गया। वह दर्द से कराह उठी। पेट में बच्चा लिए वह जमीन पर गिर पड़ी। परिजनों ने जब देखा तो बीचबचाव को आए लेकिन तब तक परवेज ने काम तमाम कर दिया था। आनन फानन में परिजन उसे सदर अस्पताल ले गए लेकिन उसकी जलन बढ़ती गई। वहां डॉक्टरों ने जब रेशमा की हालत देखी तो उसे तुरंत पावापुरी मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया। फिलहाल उसका इलाज अस्पताल में चल रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.