बिहार : कृषि आधारित व्यवसाय को बढ़ावा देगी सरकार , मिलेगा आर्थिक प्रोत्साहन

0
33

बिहार सरकार ने हाल ही में कृषि व्यवसाय क्षेत्र को प्रोत्साहित करने और बढ़ावा देने के लिए बिहार कृषि निवेश प्रोत्साहन नीति 2020 की शुरूआत की, जिसका उद्देश्य कृषि क्षेत्र में निवेशकों को प्रसंस्करण, भंडारण, अपशिष्ट में कमी, मूल्य संवर्धन और निर्यात प्रोत्साहन के स्तर को बढ़ाने के लिए एक सुदृढ़ वातावरण का निर्माण किया जाना है।

इस नीति के अंतर्गत किसानों को दोगुनी आय और अधिक रोजगार के अवसर पैदा करना मुख्य लक्ष्य है। बिहार में इस नीति को कृषि विभाग, बिहार के उद्यान निदेशालय, बिहार के द्वारा संचालित किया जा रहा है। कृषि निवेशकों को इस नीति के तहत सात केंद्रित क्षेत्रों में अतिरिक्त लाभ प्रदान करेगी, जो पूर्व से बिहार औद्योगिक निवेश प्रोत्साहन नीति, 2016 के माध्यम से लाभान्वित हो रहे हैं।

इस योजना के बारे में विस्तृत जानकारी प्रसारित करने के लिए इन्वेस्टर्स कनेक्ट वेबिनार की एक श्रृंखला को चरणबद्ध तरीके से आयोजित किया गया है। शुरूआत में जिलास्तरीय कृषि निवेशक कनेक्ट वेबिनार का आयोजन वर्ष 2020 में 16, 23 एवं 29 दिसम्बर को किया गया। वेबिनार के दौरान कृषि निवेशकों को विभिन्न क्षेत्रों के बारे में जानने की रूचि थी और वे विभिन्न प्रकार के उद्यानिक उत्पाद की प्रसंस्करण इकाइयाँ स्थापित करना चाहते हैं, जैसे कि पशुचारा प्रसंस्करण, लीची प्रसंस्करण, शहद प्रसंस्करण, केला प्रसंस्करण, औषधीय और सुगंधित पौधों की प्रसंस्करण इकाई, आदि। उद्यान निदेशालय, बिहार द्वारा आयोजित विभिन्न वेबिनारांे में बैंकों के प्रतिनिधि भी शामिल हुए हैं, ताकि निवेशक बैंक लोन संबंधित समस्याओं को उनके साथ साझा कर सके तथा उनका समाधान पा सके।
कई निवेशकों द्वारा कृषि निवेश हेतु इच्छा व्यक्त करने के उपरांत 30 इच्छुक निवेशकों के साथ दिनांक 05 जनवरी, 2021 को डाॅ॰ एन॰ सरवण कुमार, सचिव, कृषि विभाग, बिहार सरकार की अध्यक्षता में वेबिनार आयोजित किया गया। वेबिनार के दौरान निवेशकों ने लीची प्रसंस्करण, चारा प्रसंस्करण, चाय प्रसंस्करण, औषधीय और सुगंधित पौधों का प्रसंस्करण, आलू चिप्स, मखाना प्रसंस्करण आदि संबंधित इकाई स्थापित करने की इच्छा व्यक्त की।

अनुमोदन प्रक्रिया, डीपीआर तैयार करने, क्रेडिट लिंकेज, क्षमता निर्माण में निवेशकों की सहायता के लिए उद्यान निदेशालय, बिहार द्वारा एक तकनीकी सहायता समूह की नियुक्ति की गई है। जिला स्तर पर सहायक निदेशक, उद्यान को इस नीति हेतु नोडल पदाधिकारी नियुक्त किया गया है।krishi niti 2020 अन्तर्गत आवेदन देने हेतु एक आनलाइन आवेदन पद्धति तैयार की गयी है, जो कि शीघ्र प्रारंम्भ किया जायेगा। बताया गया कि बिहार कृषि निवेश प्रोत्साहन नीति 2020 के तहत, उद्यान निदेशालय, बिहार द्वारा निवेशकों के लिए माॅडल डीपीआर विकसित किया गया है।

सचिव, कृषि विभाग द्वारा सभी निवेशकों से अनुरोध किया गया कि वह इस क्षेत्र में करें क्योंकि निवेश हेतु यह अच्छा अवसर है तथा बिहार सरकार द्वारा इस नीति को उच्चत्तम प्राथमिकता दी जा रही है, तभी केवल कृषि निवेश हेतु राज्य सरकार द्वारा पूंँजीगत् अनुदान का प्रावधान किया गया है।
निदेशक, उद्यान द्वारा सचिव, कृषि विभाग तथा समस्त निवेशकों एवं प्रतिभागियों को धन्यवाद दिया गया। साथ ही, निदेशक, उद्यान द्वारा निवेशकों को यह सुनिश्चित किया गया कि उनके द्वारा उल्लेखित सभी प्रश्नों को संरक्षित कर लिया गया है तथा निदेशालय द्वारा उन पर आवश्यक कार्रवाई की जायेगी। साथ ही, उन्होंने निवेशकों से अनुरोध किया कि वह आगे आयें और इस नीति के अन्तर्गत लाभ लें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.