पटना: कैबिनेट विस्तार में नहीं चलेगा 50:50 का फार्मूला, RCP सिंह ने खुद साफ कर दी तस्वीर

0
558

 मकर सक्रांति के साथ खरवास का महीना खत्म होने वाला है, लेकिन अब तक बिहार में मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर कोई सुगबुगाहट नहीं दिख रही है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कई दफे सार्वजनिक तौर पर कह चुके हैं कि बीजेपी की दिलचस्पी नहीं होने के कारण कैबिनेट विस्तार में देरी हो रही है, लेकिन अब जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने जो बड़ा बयान दिया है उसके बाद यह भी साफ हो गया है कि नीतीश कैबिनेट में 50 :50 का फार्मूला नहीं चलेगा. लगातार चर्चा हो रही थी कि जेडीयू कैबिनेट में 50:50 का फार्मूला चाहती है लेकिन जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने जो खुलासा किया है उसके बाद यह साफ हो गया है कि बीजेपी जेडीयू से ज्यादा हिस्सेदारी कैबिनेट में रखेगी.

राज्य कार्यकारिणी की बैठक के बाद आज पार्टी के बड़े नेताओं के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए आरसीपी सिंह ने संगठन से जुड़े फैसलों की जानकारी दी. इसी दौरान कैबिनेट विस्तार को लेकर जब सवाल किया गया तो आरसीपी सिंह ने स्पष्ट तौर पर कहा कि बिहार में कैबिनेट के अंदर तस्वीर क्या होगी. यह बात पहले ही तय हो चुकी है. 16 नवंबर को जब शपथ ग्रहण हुआ था उसी वक्त विभाग बट गए थे और किसके पास कितने विभाग है यह बताने को काफी है कि मंत्रिमंडल में किसकी ताकत कितनी होगी. आरसीपी सिंह के इस बयान के बाद अगर कैबिनेट में मंत्रियों को मिले विभागों की संख्या देखा जाए तो जेडीयू के पास कुल 20 विभाग है जबकि बीजेपी कोटे के मंत्रियों के पास विभागों की संख्या 21. इसमें से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पास 5 विभाग है.  सामान्य प्रशासन, ग्रीन मंत्रिमंडल,सचिवालय, निगरानी, निर्वाचन जैसे विभाग मुख्यमंत्री के पास है जबकि डिप्टी सीएम तार किशोर प्रसाद के पास वित्त, वाणिज्य, कर, पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन, सूचना प्राविधि की आपदा प्रबंधन और नगर विकास एवं आवास विभाग का जिम्मा है. डिप्टी सीएम रेनू देवी के पास पंचायती राज, पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग कल्याण और उद्योग विभाग का जिम्मा है. नीतीश कैबिनेट में मुख्यमंत्री के साथ कुल 15 मंत्रियों ने शपथ ली थी लेकिन जेडीयू कोटे से मंत्री मेवालाल चौधरी ने इस्तीफा दे दिया था. इस वक्त मंत्रिमंडल में जेडीयू के 5 मंत्री हैं जबकि बीजेपी के दो डिप्टी सीएम समेत सात चेहरे मंत्रिमंडल में शामिल हैं. वीआईपी अध्यक्ष मुकेश सहनी और हम कोटे से संतोष कुमार सुमन मंत्री हैं.

आरसीपी सिंह ने जिस तरह विभागों की संख्या के आधार पर मंत्रियों की संख्या की बात कही है. उस आधार के अनुसार बीजेपी कोटे के मंत्रियों की संख्या जेडीयू कोटे के मंत्रियों से ज्यादा होने वाली है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.