मकर संक्रांति का शुभ पर्व 14 जनवरी को मनाया जाएगा। इस दिन कई तरह के उपाय किए जाते हैं। हम लाए हैं आपके लिए ग्रामीण अंचलों में धन, धान्य, लक्ष्मी और सफलता के लिए किया जाने वाला अचूक उपाय…

संक्रांति की सुबह शुभ मुहूर्त में 14 स्वच्छ कौड़ियां लें।

इन्हें केशर मिश्रित दूध से स्नान कराएं।

अब इन्हें गंगाजल से शुद्ध कर एक साफ प्लेट या पूजा पात्र में रख लें।

महालक्ष्मी के सामने दो दीपक जलाएं एक शुद्ध घी का और दूसरा तिल के तेल का।

तिल के तेल का दीपक बाएं तरफ रखें और घी का दाएं तरफ।

कौड़ियां ॐ संक्रात्याय नम: का 14 बार मंत्र पढ़कर सिद्ध कीजिए।

अन्य जो भी सूर्य या संक्रांति की पूजा करना हो वह भी कर लीजिए और समस्त दान सामग्री को कलप दीजिए।

ठीक 12 बजे कौड़ियां उठा लीजिए और उन्हें अलग-अलग शुद्ध और बरकत के स्थान पर रख दीजिए।
जैसे पर्स, अलमारी, देवस्थान, किचन, शैया के नीचे, काम करने की टेबल पर, भंडार घर में आदि।

यह काम आपको संक्रांति के दिन ही करना है।

उसके बाद दीपक का स्थान बदल देना है यानी जो पहले दाएं तरफ था उसे बाएं तरफ रख दीजिए और जो बाएं तरफ था उसे दाएं तरफ रख दीजिए। अगर ज्योत कम हो रही हो तो फिर से जला लीजिए।

तिल के तेल का दीपक शाम को दहलीज पर और घी का तुलसी चौरे पर लगा दीजिए।

यह प्रयोग सुख, समृद्धि, धन, धान्य, लक्ष्मी और सफलता के लिए अचूक माना गया है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.