रूपेश हत्याकांड : एसएसपी कर रहे SIT को लीड, STF को भी जांच में जोड़ा गया, CCTV और मोबाइल से अहम सबूत मिलने की उम्मीद

0
39

पटना में इंडिगो एयरलाइंस के स्टेशन मैनेजर रूपेश कुमार सिंह की हत्या के बाद सरकार की नींद उड़ी हुई है. पटना पुलिस के लिए यह हाई प्रोफाइल मर्डर केस सबसे बड़ी चुनौती बन गया है. रुपेश हत्याकांड की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है. एसएसपी उपेंद्र शर्मा खुद एसआईटी का नेतृत्व कर रहे हैं. इसमें सिटी एसपी सेंट्रल सचिवालय डीएसपी के अलावे शास्त्री नगर कोतवाली एयरपोर्ट सचिवालय थानेदार के साथ सेल अन्य टीम को लगाया गया.

इतना ही नहीं इस मामले की गंभीरता को देखते हुए एसटीएफ को भी जांच में जोड़ा गया है. पुलिस के आला अधिकारियों ने पटना पुलिस कप्तान को स्पष्ट मैसेज दे दिया है कि 24 से 48 घंटे में अगर इस केस के अंदर अपराधियों की पहचान नहीं हुई तो उनके लिए मुश्किल खड़ी हो सकती है. बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार खुद इस वारदात को लेकर गंभीर है यह मामला इतना हाई प्रोफाइल है कि रूपेश की हत्या के बाद सरकार में शामिल भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने अपनी ही सरकार के उन को कटघरे में खड़ा करना शुरू कर दिया है.

रूपेश की पत्नी

एयरपोर्ट के स्टेशन मैनेजर रूपेश कुमार सिंह की मंगलवार शाम तकरीबन 7:15 बजे हत्या कर दी गई थी. रुपेश की हत्या उस वक्त की गई जब वह अपने काले रंग की हेक्टर कार से पुनाइचाक स्थित अपार्टमेंट पहुंचे थे. पुनाईचक बलदेव भवन के पास कुसुम विला अपार्टमेंट में उनका फ्लैट है. 42 साल के रूपेश अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर 303 में परिवार के साथ रहते थे. उन्होंने जैसे ही अपनी कार अपार्टमेंट के पास खड़ी की उसी वक्त घात लगाकर बैठे अपराधियों ने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी. रूपेश को आधा दर्जन से ज्यादा गोलियां लगी. बाद में उन्हें पारस अस्पताल ले जाया गया जहां उनकी मौत हो गई. छपरा के जलालपुर के रहने वाले थे. वह पटना एयरपोर्ट पर एयरलाइंस ऑपरेशन के अध्यक्ष भी थे. राजनीतिक गलियारे में भी उनके अच्छे संबंध थे हत्या के बाद एसएसपी सहित पटना पुलिस के तमाम अधिकारी मौके वारदात पर पहुंचे थे और बाद में आईजी संजय सिंह ने भी पुनाइचाक पहुंचे थे.

एक सीसीटीवी में कैद हुए सुराग!
रुपेश के अपार्टमेंट के पास ही लगे एक सीसीटीवी कैमरे में एक बाइक पर जाते हुए दो लोग देखे गए हैं. इसके बाद उनकी तलाश पटना पुलिस ने तेज कर दी है. सूत्रों के हवाले से ये जानकारी मिली है. इधर हत्या के बाद रूपेश की कार को भी पुलिस ने जांच के लिए अपने कब्जे में ले लिया है. रुपेश की कार में ही रखे मोबाइल को भी पुलिस लगातार खंगाल रही है. फिलहाल पुलिस की जांच का रुख इस तरफ है कि अंतिम बार रूपेश की किससे कॉल पर बात हुई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.