पटना: रूपेश हत्याकंड पर बोले DGP- कॉन्ट्रैक्ट किलिंग का है मामला, जल्द होगा खुलासा

0
43

राजधानी में इंडिगो एयरलाइंस के मैनेजर रूपेश कुमार की हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने के लिए शनिवार को बिहरा के डीजीपी एसके सिंघल पटना के एसएसपी ऑफिस पहुंचे। पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक करने के बाद उन्होंने से मीडिया से बातचीत में कहा कि यह एक संवेदनशील मामला है। कई बिंदुओं पर जांच चल रही है। उम्मीद है कि जल्द इस मामले का खुलासा होगा।

डीजीपी ने कहा कि रूपेश की हत्या जिस तरीके से की गई है, उससे साफ है कि यह कॉन्ट्रैक्ट किलिंग का मामला है। इसके पीछे की वजह क्या हो सकती है, इसका पता लगा रहे हैं। कई बिंदुओं पर हमारी छानबीन जारी है। तकनीकी और मानव आधारित इंटेलिजेंस की मदद से हत्याकांड की हर संभावित पहलू को देखा जा रहा है। हमें भरोसा है कि जल्द इस हत्याकांड को सुलझा लिया जाएगा।

ढाई घंटे तक अधिकारियों के साथ की बैठक
डीजीपी एसके सिंघल एसएसपी ऑफिस में ढाई घंटे तक रहे। उन्होंने रूपेश हत्याकांड में हुई अबतक की जांच पर अधिकारियों से फीडबैक लिया। जांच में क्या प्रगति हुई है इसकी जानकारी लेने के बाद उन्होंने आगे किन बिंदुओं पर जांच करनी है इसके लिए पुलिस अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए। डीजीपी के साथ एडीजी सीआईडी विनय कुमार, एडीजी विधि-व्यवस्था अमित कुमार, एडीजी अभियान सुशील खोपड़े, आईजी रेंज संजय सिंह और एसएसपी उपेंद्र शर्मा भी थे। वहीं अन्य वरीय अधिकारियों के साथ एसआईटी की अधिकारी भी मौजूद रहे।

कई टीमें इस केस पर काम कर रहीं
DGP ने बताया कि पटना पुलिस के अधिकारियों के साथ इस केस पर पूरे डिटेल से बात हुई। बहुत कॉम्प्लेक्स है इस केस में। हमारी कई टीमें इस केस पर काम कर रही है। अलग-अलग जगहों पर गई हैं। टेक्निकल टीम अलग से इंटेलिजेंस कलेक्ट कर रही है। एक टीम ह्यूमन इंटेलिजेंस कलेक्ट कर रही है। एक टीम साइंटिफिक तरीके से सबूत जुटाने में लगी हुई है। इसके अलावा बहुत बेसिक चीजें सामने आई है। पूरी तरह से यह कांट्रैक्ट किलिंग का मामला है। हत्या के पीछे की वजह को ढूंढ़ने की पुलिस टीम पूरी कोशिश कर रही है। पूरा भरोसा है कि इस केस का खुलासा हमलोग जल्द ही कर लेंगे।

DGP ने कहा कि पुलिस बहुत मजबूती के साथ काम कर रही है। किसी भी केस के डिटेक्शन में पेशेंस और मेहनत की जरूरत होती है। बिहार में बहुत बड़े-बड़े केस हैं, जो CBI के पास गए और उनका हल नहीं निकल पाया। वो केस ब्लाइंड रह गए। जबकि, बिहार पुलिस ने कुछ केस को छोड़ दें तो अधिकांश का खुलासा कर दिया है। पिछले 2-3 महीने में बिहार के अंदर हुए अपराध की बात करें तो हमारी पुलिस टीम ने हर केस का खुलासा बहुत अच्छे से किया है। इसमें कई बड़े और संवदेनशील मामले रहे हैं। पिछले 20 दिनों में हर घटना पर पुलिस ने तेजी से कार्रवाई की है और उसका खुलासा किया है। देर-सवेर रुपेश के केस में भी खुलासा हो जाएगा। दरभंगा लूट मामले में हमारी टीम ने बेहतर काम किया।

अपराध बढ़ने के दावों को डीजीपी ने झुठलाया
बिहार में अपराध बढ़ने के दावों को डीजीपी ने खारिज कर दिया। कहा कि यह आधारहीन है। सिर्फ कह देने से अपराध नहीं बढ़ जाता है। आकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि वर्ष 2019 के जनवरी से नवम्बर के मुकाबले साल 2020 की इसी अवधि में अपराध के 18 शीर्षों में से 14 में कमी दर्ज की गई है। वहीं साल 2019 व 2020 के नवम्बर में हुई घटनाओं की तुलना करें तो अपराध के 18 शीर्षों में से 15 में कमी आई है। डीजीपी ने कहा कि राज्य में जहां कहीं घटनाएं हुई हैं उनमें से अधिकतर को दो-तीन दिनों के अंदर सुलझा लिया गया। कुछ मामलों में वक्त लगता है। हर एक मामले का उद्भेदन पुलिस कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.