पटना: बाजार समिति में 14 राउंड फायरिंग, बाहर से आये ट्रक बने निशाना

0
37

राजधानी के फल मंडी में अपराधियों ने ताबड़तोड़ फायरिंग की है। एक के बाद एक कुल 14 राउंड गोली चली है। बदमाशों के इस कांड में दूसरे राज्यों से फल लेकर आए ट्रकों और ड्राइवर्स को निशाना बनाया है। फायरिंग के दौरान फल मंडी में खड़े ट्रकों को निशाना बनाया गया। यह मामला पटना के बहादुरपुर थाना के तहत बाजार समिति इलाके का है। फायरिंग की वारदात रविवार की देर रात की है। अचानक हुए इस वारदात के बाद से पूरे मंडी में हड़कंप मचा हुआ है। फल कारोबारी दहशत में हैं। सुरक्षा को लेकर उन्हें जो उम्मीद बिहार सरकार और पटना पुलिस से थी, वो पूरी नहीं हो रही है।

फल मंडी पर बदमाशों का कब्जा

बाजार समिति के फल मंडी पर इलाके के बदमाश, स्मैकर, शराबियों और जुआरियों का कब्जा है। इसे लेकर अक्सर विवाद होता रहा है। रविवार की रात भी शराब के नशे में धुत बदमाशों ने फल मंडी में गुंडागर्दी की। जब इन्हें रोका गया तो 30-35 की संख्या में अपने लोगों को बुला लिया। इसके बाद दहशत फैलाने के लिए बैक टू बैक गोली चलाई गई। संतरा लेकर पटना आई ट्रक (PB03/AJ8236) के उपर भी गोली चलाई गई। गनीमत है कि उस वक्त ट्रक के अंदर उसका ड्राइवर या खलासी मौजूद नहीं था। वरना शीशे को फोड़ती हुई गोली अंदर बैठे लोगों को ही लगती। अपराधियों का तांडव इतने पर ही नहीं रुका। इसके बाद बगल में ही खड़े दूसरे ट्रक (PB04A/B2875) के उपर एक बड़ा पत्थर फेंक दिया। जिसकी वजह से इस ट्रक का शीशा बुरी तरह फूट गया। इस ट्रक के खलासी संदीप कुमार को भी काफी चोट आई है। अपराधियों की चलाई गई गोली लगने से एक ट्रक ड्राइवर घायल हो गया है। हालांकि उसकी हालत अभी खतरे से बाहर है।

डर की वजह से अनलोड किए बगैर चली गई ट्रक

रात में हुई वारदात के बाद सिर्फ फल कारोबारी ही दहशत में नहीं है, बल्कि दूसरे राज्यों से फल लेकर पटना आने वाले ट्रक ड्राइवर्स भी काफी डरे और सहमे हैं। पटना फूड एंड वेजिटेबल एसोसिएशन के अध्यक्ष शशिकांत प्रसाद के अनुसार बदमाशों ने फायरिंग के दौरान कल रात ड्राइवर्स का पैसा लूट लिया, उनके मोबाइल छीन लिए गए। नजदीक में ही बहादुरपुर थाना है। पुलिस की टीम मौके पर पहुंची भी। लेकिन, पुलिस ने सभी आसामाजिक लोगों को भगा दिया। डर की वजह से फलों से भरी एक ट्रक अनलोड नहीं हो पाई। ड्राइवर ट्रक लेकर वापस चला गया। हर दिन सुबह 6 बजे से लेकर दोपहर 2 बजे तक ट्रक रहती हैं। उन्हें अनलोड किया जाता है। बाहर से कारोबारी आते हैं। मगर, सुरक्षा के नाम पर कुछ भी नहीं है। कोई कार्रवाई नहीं होती है। शशिकांत का आरोप है कि बाजार समिति इलाके में खुलेआम शराब बेची जाती है, पर बगल में थाना होने के बाद भी पुलिस कार्रवाई नहीं करती है।

सुरक्षा नहीं मिली तो कारोबार बंद कर देंगे

आश्चर्य वाली बात यह है कि वारदात के बाद पुलिस टीम मौके पर ही जांच भी की। लेकिन, सबूत के तौर पर गोली का खोखा घटना स्थल से जमा नहीं कर पाई। सोमवार को जब भास्कर की टीम वारदात स्थल पर पहुंची तो वहां पर गोली का एक खोखा भी दिखा। शशिकांत प्रसाद ने स्पष्ट कर दिया है कि असुरक्षा के इस माहौल में फल कारोबारी अपना कारोबार बंद कर देंगे। 10 से 15 करोड़ रुपयों का टर्नओवर इस मंडी का है। करोड़ों का माल रोड पर पड़ा हुआ है। सरकार से मांग है कि बाहर से आने वाले ट्रक, उस पर लोड माल और कारोबारियों की सुरक्षा मिलनी चाहिए। अगर सुरक्षा के बेहतर इंतजाम नहीं हुए तो हमलोग कारोबार बंद कर देंगे।

पुलिस ने कहा – पहले लोकल लड़के की पिटाई हुई

इस पूरे मामले पर पटना के सिटी एसपी ईस्ट जितेंद्र कुमार से बात की गई। उनके अनुसार पुलिस टीम ने पूरे मामले की जांच की। सिटी एसपी के अनुसार एक ट्रक ड्राइवर ने पहले लोकल लड़के की पिटाई कर दी थी। उसे लोहे के रॉड से मारा था। लोकल लड़का भी घायल है, उसका इलाज एक प्राइवेट हॉस्पिटल में चल रहा है। इसी घटना के विरोध में लोकल लोग जुट गए। पुलिस ने माना है कि लोकल लोगों ने फायरिंग की है, मगर 14 राउंड नहीं। कारोबारियों के बयान पर बहादुरपुर थाना में कंप्लेन दर्ज कर ली गई है। वारदात को अंजाम देने वालों की पहचान भी हो गई है। पुलिस टीम जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर लेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.