पटना: राजभवन से निकलने के बाद तेजस्वी बोले- बिहार में बढ़ते अपराध से राज्यपाल चिंतित और परेशान

0
36

बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव, राजद के अन्य नेताओं के साथ राजभवन पहुंचे हैं। यहां उन्होंने राज्यपाल फागू चौहान से मिलकर एक ज्ञापन दिया है। इसमें बिहार में बिगड़ती कानून-व्यवस्था का मसला उठाया गया है। राज्यपाल को ज्ञापन देने के बाद तेजस्वी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि बिहार में जिस तरह से अपराध की घटनाएं हो रही हैं, उससे उन्हें अवगत कराया गया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जितनी समीक्षा कर रहे हैं, उतना ही अपराध बढ़ता जा रहा है।

तेजस्वी ने कहा – राज्यपाल भी चिंतित और परेशान

नेता प्रतिपक्ष ने मीडिया को बताया कि जब हमने उन्हें बिहार में बढ़ते अपराध की घटनाओं के बारे में बताया तो वे भी चिंतित दिखे। राज्यपाल ने भी माना कि बिहार में अपराध बढ़ रहे हैं। वह खुद भी चिंतित और परेशान हैं। उन्होंने कहा है कि इसमें हस्तक्षेप करेंगे। संबंधित विभाग के अधिकारी से बात करेंगे।

रुपेश कांड में सरकार की मिलीभगत

तेजस्वी ने कहा कि इंडिगो के स्टेशन मैनेजर रुपेश सिंह हत्याकांड के मामले में सरकारी और प्रशासनिक तंत्र के अंदर के लोगों की संलिप्तता है। पूरे बिहार के लोग डरे हुए हैं। घर में रहते हुए भी लोग डरे सहमे हैं। अपराधी पहले सड़क पर तो तांडव मचा ही रहे थे, अब घर में घुस कर लोगों को मार रहे हैं। एक महीना समय है सरकार के पास, लॉ एंड ऑर्डर को दुरुस्त करें, नहीं तो सीधे राष्ट्रपति भवन मार्च करेंगे।

तेजस्वी ने CM को लिखा था लेटर

तेजस्वी यादव ने इससे पहले शनिवार को ही CM नीतीश कुमार को लेटर भी लिखा था। कहा था कि सीएम के चेहरे पर थकान, लाचारी स्पष्ट दिख रही है। ‘कानून अपना काम कर रहा है, हम न किसी को फंसाते हैं न बचाते हैं’ ऐसे जुमलों से काम नहीं चलेगा। पत्र में कहा कि विपक्ष हर तरह का सहयोग देने को तैयार है। आप हत्या, लूट, बलात्कार की सुनामी से बिहार को बचाएं। बिहार के मुख्यमंत्री के तौर पर पूर्वाग्रह त्याग कर योग्य पदाधिकारियों को पदस्थापित करें। विधि व्यवस्था को सुदृढ़ करें नहीं तो जनता माफ नहीं करेगी। बिहार में महाजंगलराज स्थापित हो चुका है। एक माह में अपराध कंट्रोल नहीं हुआ तो दिल्ली कूच करेंगे और राष्ट्रपति के सामने सच रखेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.